खबरदार जो आंख उठा कर देखा, पौड़ी पुलिस छात्राओं को सिखा रही आत्मरक्षा के गुर

पौड़ी गढ़वाल : पौड़ी पुलिस ने आत्मरक्षा के लिए छात्राओं को गुर सिखाने शुरु कर दिए हैं। अब बेटियों को आंख उठाकर देखने वालों की खैर नहीं है. अब अपनी रक्षा बेटियां खुद करेगी और इसकी ट्रेनिंग उनको दे रही है पौड़ी पुलिस की महिला पुलिसकर्मी। बता दें कि पहाड़ी क्षेत्रों में धीरे धीरे अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है। लड़कियों से छेड़छाड़ के मामले बढ़ रहे हैं इसको देखते हुए पुलिस लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने का काम कर रही है।

आपको बता दें कि पौड़ी गढ़वाल एसएसपी कु. पी. रेणुका देवी ने नारी सशक्त-देश सशक्त की थीम पर महिला पुलिस कर्मियों में आत्मविश्वास एवं सुरक्षा की भावना जागृत करने के लिए प्रशिक्षित महिला पुलिस कर्मियों को अपने-अपने थाना क्षेत्रान्तर्गत स्कूलों-कॉलेजों और कार्यालयों में कार्य करने वाली युवतियों और महिलाओं को आत्म रक्षा के लिए प्रशिक्षण देने के लिए निर्देशित किया है।

इसी के मद्देनजर आज लक्ष्मणझूला, सतपुली और थलीसैण की प्रशिक्षित महिला पुलिस कर्मियों द्वारा राजकीय इंटर कॉलेज लक्ष्मणझूला, राजकीय इंटर कॉलेज घेरुवा, राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सतपुली, राजकीय इंटर कॉलेज वगवाड़ी में जाकर छात्राओं को आत्मरक्षा प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें प्रशिक्षित महिला पुलिस कर्मियों द्वारा छात्राओं को पंच बांधना, शरीर की कमजोर कड़ी पर वार करना, किसी की पकड़ से खुद को छुड़ाने के साथ पैरों से वार करना आदि की तकनीक बताई।

साथ ही छात्राओं को बढ़ते हुए अपराधों की रोकथाम, महिला अपराध, मानव तस्कारी, साइबर अपराधों से बचाव, सोशल मीडिया के दुष्प्रभावों व आपतकालीन नम्बर डायल-112 आदि के बारे में जानकारी दी गयी एवं बताया गया कि यदि उनके साथ कोई भी व्यक्ति अपमानजनक व्यवहार या छेड़छाड़ करता है तो इस तरह की घटनाओं को कदापि नजर अंदाज न करें, इसकी सूचना तत्काल अपने परिजनों और पुलिस को दें। साथ ही राज्य सरकार द्वारा जारी कोविड़ गाइडलाइंस का पालन करने हेतु प्रेरित किया गया। जनपद के स्कूलों/कॉलेजो में आत्मरक्षा प्रशिक्षण का कार्यक्रम लगातार जारी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here