आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड का एक और लाल शहीद, अगले साल होने वाले थे रिटायर

पौड़ी गढ़वाल : देश की रक्षा के लिए अब तक कई उत्तराखंड के बेटों ने अपनी प्राणों की आहूति दी है। उत्तराखंड के लाखों जवान आज भी देश की रक्षा के लिए सीमा पर तैनात है। लेकिन बीती रात एक दुखद खबर उत्तराखंड सहित देश के लिए सीमा से आई। जी हां बता दें कि आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन में पौड़ी जिले के सलाना गांव के रहने वाले सूबेदार राम सिंह राजौरी  में शहीद हो गये। जानकारी मिली है कि सूबेदार राम सिंह फरवरी 2022 में रिटायर होने वाले थे।

आतंकियों से लोहा लेते हुए पौड़ी का लाल शहीद

सेना के सूत्रों के मुताबिक राजौरी के थानामण्डी क्षेत्र में आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन चल रहा था। सुबह तक चले ऑपरेशन में दो आतंकियों को मार गिराया गया था एक तीसरे आतंकी के संदेह में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था। उसी दौरान घात लगाकर आतंकी ने बर्स्ट मार दिया जिसकी चपेट में सूबेदार राम सिंह आ गए और बुरी तरह जख्मी हो गए। चिकित्सकों की टीम ने उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन अत्यधिक खून बह जाने के कारण नहीं बचा सके।

16 वीं गढ़वाल राइफल में थे रामसिंह भंडारी तैनात

मिली जानकारी के अनुसार शहीद सूबेदार राम सिंह का परिवार मेरठ में रहता है। वे मूल रूप से पौड़ी जिले के सलाना गांव के रहने वाले थे। सूबेदार राम सिंह 16 वीं गढ़वाल राइफल में शामिल हुए थे। पौने 2 साल से वह राष्ट्रीय राइफल के साथ कार्यरत थे। प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने सूबेदार राम सिंह के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here