पौड़ी गढ़वाल : CM त्रिवेंद्र रावत से एक बहन ने लगाई न्याय की गुहार, पुलिस पर उठाए सवाल

पौड़ी गढ़वाल : उत्तराखंड की एक बेटी ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने न्याय की गुहार लगाई है। बता दें कि सीएम के गृह जनपद से एक लड़की ने भाई की मौत मामले में सीएम से सोशल मीडिया के जरिए न्याय की गुहार लगाई है। ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। मृतक की बहन और परिवारवालों ने पुलिस की जांच पर सवाल खड़े किए हैं और अंसन्तुष्टि जाहिर की है।मृतक के परिजनों का आरोप है कि तहरीर देने के बावजूद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं की। जबकि पुलिस ने थलीसैंण पुलिस इसे खुदकुशी का मामला बता रही है।

इन पर लगाया हत्या का आरोप

बता दें कि मामला थलीसैंण थाना क्षेत्र का है जहां बीती 24 जनवरी को नाबालिग धन्नू चौहान पुत्र दयाल सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मृतक के परिजनों ने इसे हत्या बताया और गांव के ही एक व्यक्ति के खिलाफ पुलिस को लिखित में शिकायत दर्ज कराई। वहीं मृतक फुफेरी बहन कांति ने बताया कि बीते 20 जनवरी को गांव के ही गबर सिंह का मोबाइल खो गया था। मोबाइल 22 जनवरी को गबर सिंह घर में ही मिला था। बावजूद इसके गबर सिंह ने उसके भाई धन्नू चौहान पर मोबाइल चोरी का आरोप लगाया और 24 जनवरी को सुबह 10.30 बजे गबर सिंह गांव के ही एक व्यक्ति के साथ उनके घर आया और धन्नू को घर से उठा कर व्यासी ले गया।

ने पुलिस पर कोई कार्रवाई न करने का आरोप

बहन ने आरोप लगाया कि धन्नू जब 2 बजे शाम घर लौटा तो वह काफी डरा हुआ था और घर पर किसी से बात नहीं कर रहा था। वो खोया खोया सा था। बहन ने बताया कि वो अपने कमरे मे चला गया और शाम को 4.30 बजे धन्नू की अचानक तबियत खराब हो गई तो उसे सीएचसी थलीसैंण ले गए जहां उपचार के दौरान धन्नू ने दम तोड़ दिया।  वहीं इसके बाद मृतक के परिजनों ने गबर सिंह के खिलाफ थलीसैंण पुलिस से लिखित शिकायत की। कांति ने पुलिस पर कोई कार्रवाई न करने का आरोप लगाया।कांति ने बताया कि धन्नू पिछले 7 सालों से उनके साथ रह रहा था। धन्नू गांव कुड़ेठ गांव का है। धन्नू के पिता मजदूरी करते हैं।

वहीं जब कांति को पुलिस से इंसाफ कोई उम्मीद दिखती नजर नहीं आई तो कांति ने सोशल मीडिया का सहारा लिया और वीडियो अपलोड कर सीएम से मदद मांगी। मृतक की बहन का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया। वहीं इस पर थलीसैंण थानाध्यक्ष रविद्रं सिंह ने कहा कि मामला खुदकुशी का है। पीएम रिपोर्ट में मौत के कारण विषाक्त खाना सामने आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here