VIDEO : राज्यसभा सांसद ने हरीश रावत को बताया सीएम के लिए प्रदेश का सबसे बड़ा लोकप्रिय चेहरा

हल्द्वानी- कांग्रेस में घमासान जारी है। हरीश रावत और इंदिरा हृदयेश के बीच की जुबानी जंग किसी से छुपी नहीं है। वो सामने आ ही जाती है और सबको इसकी खबर  लग ही जाती है। बीते दिनों से कांग्रेस में सीएम के चेहरा घोषित करने को लेकर भी सियासी घमासान मचा हुआ है। हरीश रावत और नेता प्रतिपक्ष के बीच जुबानी जंग जारी ही थी कि आज हरीश रावत के पक्ष में राज्यसभा सांसद आ खड़े हुए हैं। जी हां आज गुरुवार को राजसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने आज प्रेस वार्ता कर हरदा की तारीफ की और हरीश रावत को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाने की मांग की।

हल्द्वानी पहुंचे कांग्रेस से राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए एक बार फिर से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत को उत्तराखंड में आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव के लिये सीएम का चेहरा घोषित करने की मांग की है। राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा का कहना है कि हरीश रावत उत्तराखंड की राजनीति के सबसे बड़े और लोकप्रिय नेता हैं, ऐसे में उनके चेहरे पर चुनाव लड़ने से कांग्रेस को जरूर लाभ होगा, अगर चेहरा नहीं घोषित किया जाता तो कार्यकर्ताओं और जनता में भ्रम की स्थिति पैदा होगी, प्रदीप टम्टा का कहना है कि हरियाणा के अंदर भी कांग्रेस के सबसे लोकप्रिय चेहरे भूपेंद्र हुड्डा को मुख्यमंत्री का चेहरा देर से घोषित किए जाने पर कांग्रेस को सत्ता से बाहर रहना पड़ा, ऐसे में हरीश रावत को भी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाया जाना चाहिए जिससे पार्टी को चुनाव में उनके अनुभव का लाभ मिल सके, प्रदीप टम्टा ने कहा कि अगर राष्ट्रीय नेतृत्व किसी और को भी मुख्यमंत्री का चेहरा बनाता है तो उनको वो भी स्वीकार है लेकिन चुनाव से पहले पार्टी को मुख्यमंत्री का चेहरा जरूर घोषित होना चाहिए।

पीसी के दौरान प्रदीप टम्टा ने कहा कि हरीश रावत को चेहरा बनाने से चुनाव में पार्टी को फायदा होगा। कहा कि हरियाणा में भी देर से सीएम का चेहरा घोषित होने से नुकसान झेलना पड़ा था। टम्टा ने कहा हरीश रावत की तारीफ के पुल बांधे और कहा कि हरीश रावत प्रदेश का सबसे बड़ा लोकप्रिय चेहरा है। कहा कि पार्टी नेतृत्व किसी और को भी चेहरा बनाएगी तो वो भी स्वीकार है लेकिन हरीश रावत से बड़ा कद अभी तक किसी भी राजनैतिक पार्टी में किसी का नहीं है। आगे प्रदीप टम्टा ने कहा कि चेहरा घोषित ना होने से कार्यकर्ताओं और जनता में भ्रम की स्थिति होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here