उत्तराखंड में भंडाफोड़ : घर में बना रहे थे नकली दवाई, ब्रांडेड कंपनी का लेबल लगाकर करते थे सप्लाई

काशीपुर से बड़ी खबर है। बता दें कि काशीपुर की कुंडा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नकली दवाई बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने मुरादाबाद रोड स्थित नैनी पेपर मिल के पीछे एक घर में अवैध रूप से चल रही नकली दवाई की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया और मौके से आरोपियों को गिरफ्तार किया।

आपको बता दें कि कुंडा पुलिस को स्थानीय एक मकान में संदिग्ध गतिविधियां होने की सूचना मिली थी। सूचना पर पहले पुलिस ने जाल बिछाया और घर पर दबिश दी। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पाया कि घर में ब्रांडेड कंपनियों के नाम से नकली दवाइयां बनाई जा रही थी। इस पर पुलिस ने वहां से 10 लोगों को दवाई बनाते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।पुलिस ने इस दौरान वरिष्ठ औषधि निरीक्षक उधम सिंह नगर सुधीर कुमार को तत्काल सूचना देकर मौके पर बुलाया जिनकी देखरेख में यहां पर भारी मात्रा में नकली दवाइयों का जखीरा जब्त किया। यहां यह भी बता दें कि यहां पर दवाई बनाने की मशीनें करीब 1 माह पूर्व लगाई गई थी। दवाई बनाने वाले सरगना रुड़की में भी पहले नकली दवाई बनाने के एवज में जेल जा चुका है।

आज काशीपुर ए एस पी ऑफिस में मामले का खुलासा करते हुए जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बलजिंदर जीत सिंह ने बताया कि सभी दस आरोपियों की कुंडली खंगाली जा रही है। और पता लगाया जा रहा है कि इन लोगों ने इस नकली दवाई को कहां-कहां सप्लाई किया है। संज्ञान में आया है कि यह नकली दवाई की खेप ज्यादातर उत्तर प्रदेश के इलाके में किया करते थे। इन्होंने अब उत्तराखंड को भी अपना निशाना बनाया । इन नकली दवाइयों की मार्केट में आने से लोगों को काफी नुकसान हो रहा था, जिन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उनमें विपिन कुमार, सहदेव गुप्ता, देवराज गुप्ता, रविंद्र कुमार, प्रदीप कुमार, वासुदेव, जगमोहन वर्मा, सचिन कुमार, उदित कुमार व पाकेश कुमार शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here