उत्तराखंड पुलिस की अपील : आपको पुराना और टूटा मोबाइल बेचना पड़ सकता है महंगा, फेरी वालों से सावधान

देहरादून : उत्तराखंड पुलिस सोशल मीडिया के जरिए लोगों को सतर्क कर रही है। बता दें कि अगर आपके पास पुराना और टूटा मोबाइल है और उसे बेचने की सोच रहे हैं तो जरा संभलकर क्योंकि आपका मोबाइल साइबर क्राइम के लिए इस्तेमाल हो सकता है। जी हां बता दें कि वर्तमान समय में साइबर अपराधियों का एक गैंग इन मोबाइल फोन को इकठ्ठा करने में लगा है। साइबर आरोपित पुराने मोबाइल फोन को ठीक कर उसका इस्तेमाल आनलाइन ठगी आदि में कर रहे हैं और पुलिस की जांच में आरोपित वह बन रहा है जिसके नाम से मोबाइल पहले पंजीकृत होता है।

ऐसे में इन मामलों पर रोक लगाए जाने को लेकर महराजगंज साइबर सेल की पुलिस ने लोगों को जागरूक करना शुरू कर दिया है। बता दें कि उत्तराखंड और यूपी समेत कई राज्यों की पुलिस ने लोगों को सतर्क करना शुरु कर दिया है और लोगों से अपील की है कि अपना मोबाइल ऐसे ना बेचें। कहीं आप मुसीबत में ना पड़ जाएं।

पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए जानकारी दी कि साइबर अपराधियों के साथियों का एक गैंग इन दिनों गांवों में फेरी लगाकर फलों, रुपयों और अन्य सामान के लालच में पुराने और टूटे हुए मोबाइल फोन खरीद रहे हैं। ग्रामीण महिलाएं और साइबर अपराध से अनजान लोग घर में बेकार पड़े मोबाइल फोन को जरा सी लालच के चक्कर में आकर बेच देते हैं। ये गैंग फिर गांव से फोन इक्ट्ठा करके साइबर क्राइम को अंजाम देेने वालों को बेच देते हैं और वो फोन ठीक कराकर शुरु करते हैं ठगी का खेल।

फिर फंसता वो है जिसने मोबाइल बेचा है। पुलिस जांच में उनका नाम सामने आता है जिसके नाम से मोबाइल पंजीकृत है। इसलिए आप लोग सतर्क रहें और सुरक्षित रहगें।

May be an image of text

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here