उत्तराखंड में गजब का डॉक्टर, हिलता दांत छोड़ निकाल दिया सही दांत

पौड़ी। डॉक्टरों को भगवान कहा जाता है। लेकिन आज कल के टाइम में कई झोलाछाप डॉक्टर हैं जो घूम रहे हैं और अपनी जेबें भर रहे हैं। बता दें कि इसी के साथ डॉक्टरों के ऐसे ऐसे कारनामे देखने और सुनने को मिल रहे हैं कि अब उनके पास जाने से डर लगता है।

पौड़ी के जिला चिकित्सालय से एक ऐसा मामला सामने आया है जो सवाल खड़े करता है कि आखिर डॉक्टर इतनी बड़ी गलती करेगा तो मरीज का क्या होगा। दरअसल जिला चिकित्सालय में दंत रोग विभाग की डेंटल सर्जन ने एक 8 साल बच्ची का हिलता हुआ दांत मुंह में ही छोड़ दिया और दूसरा सही दांत निकाल दिया। इतना ही नहीं जो दवाई अस्पताल से मिलनी थी उसे दवाई को बाहर से लाने को कहा। बच्ची के पिता ने इसकी शिकायत अस्पताल प्रबंधन से की है।

जानकारी मिली है कि वरिष्ठ पत्रकार दांत दर्द होने और हिलने की शिकायत होने पर अपनी 8 साल की बेटी गौरांशी शुक्ला को जिला अस्पताल के दंत रोग विभाग में ले गए। जहां डेंटल सर्जन ने दांत निकालने का सुझाव दिया। इस पर डॉक्टर ने गौरांशी का दांत निकाल दिया और आधा घंटे बाद मुंह की रुई निकालने के लिए कहा। घर आकर जब रुई हटाई तो देखा कि बेटी का हिलता हुआ दांत मुंह में ही है, जबकि मुंह में दूसरा सही दांत को निकाल दिया। इसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत अस्पताल प्रबंधन से की।

जिला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. प्रशांत जैन ने बताया कि मामले में डेंटल सर्जन से जानकारी ली गई तो सर्जन ने खराब दांत ही निकाला गया है यह बताया है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में दवा का पूरा स्टॉक है। इस शिकायत की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here