रुड़की ब्रेकिंग : कोमा में गया घायल किसान, CO दफ्तर के बाहर जमे ग्रामीण, दबंगों की गिरफ्तारी की मांग

 

 

रुड़की : उत्तराखंड में खनन माफिया का बोलबाला है। खुलेआम खनन को अंजाम दिया जा रहा है। खनन माफिया पर कोई सख्त कार्रावाई नहीं की जा रही जिससे राजस्व और धरती को नुकसान हो रहा है। बात करें हरिद्वार जिले के रुड़की क्षेत्र की तो रुड़की में जगह जगह अवैध खनन जारी है लेकिन प्रशासन की मिलीभगत से यह खनन माफिया लगातार खनन को अंजाम देते आ रहे हैं।

ताजा मामला रुड़की के झबरेड़ा थाना क्षेत्र के रामपुर गाँव का है जहां 10 दिन पहले यानी की 10 नवंबर को कुछ किसानों ने खनन माफियाओं को खनन करने से रोका तो उनसे मारपीट की गई छी। खनन माफिया ने किसानों को पीट पीटकर अधमरा कर दिया था जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहीं खबर है कि घायल किसान मेरठ में भर्ती हैं और एक किसान जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। वो कौमा में चला गया है जिससे ग्रामीणों में इससे रोष हैं। ग्रामीण सीओ दफ्तर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं और झबरेड़ा पुलिस के खिलाफ हल्लाबोल किए हैं। उनकी मांग है कि जल्द से जल्द दबंगों को गिरफ्तार किया जाए।

ग्रामीणों का आरोप है कि ये काम यहां 2-3 साल से चल रहा है लेकिन पुलिस मौन है। उनका आऱोप है कि खनन माफियाओं ने दबंगई दिखाते हुए तीन किसानों को धारदार हथियारों से जान से मारने की नीयत से गंभीर रूप से घायल कर दिया। किसानों ने तीनों घयलो के शरीर एन एच 73 पर रखकर जाम लगाया था और अब उनका इलाज मेरठ में चल रहा है जिसमे से एक कौमा में चला गया है। ग्रामीणों का कहना है क रामपुर क्षेत्र के खनन माफिया लगातार खनन करते आ रहे हैं लेकिन स्थानीय पुलिस या जॉइन्ट मजिस्ट्रेट आज तक इस खनन पर लगाम नहीं लगा पाए। वहीं रामपुर में किसानों को खनन माफियाओं द्वारा घायल किये जाने के बाद किसानों में भारी रोष है

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here