एमएस धोनी का उत्तराखंड के लिए दिखा प्यार, अपने बड़े प्रोजेक्ट को दिया ईजा का नाम

क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने बिजनेस शुरु किया है। बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी ने गृह नगर रांची में सुजाता चौक के पास एक आउटलेट खोला है। जिसका नाम है ईजा फार्म। आपको बता दें कि धोनी के फार्महाउस में उगने वाले जैविक फल-सब्जियों और दूध की ब्रिकी की जाती है। बेहतर गुणवत्ता, कम रेट होने के चलते लोगों की भीड़ हमेशा यहां पर लगी रहती है।

40 एकड़ जमीन पर फल और सब्जी की खेती

आपको बता दें कि सैंबो इलाके में स्थित धोनी का फार्महाउस है। जहां 40 एकड़ जमीन पर फल और सब्जी की खेती होती है। यहीं के उत्पाद ईजा फार्म आउलेट पर जाते हैं। खास ये नहीं है कि उन्होंने आउटलेट खोला है बल्कि चर्चाओं में है इसका नाम। आपको बता दें कि रांची में धोनी के आउटलेट में आर्गेनिक सब्जियों में मटर, शिमला मिर्च, आलू, बींस, पपीता, ब्रोकली मिल रही है। जिसे लोग खूब खरीद रहे हैं और पसंद कर रहे हैं। इसके साथ ही गाय का दूध और देशी घी एवं स्ट्रॉबेरी भी उपलब्ध है।

ईजा उत्तराखंड में मां को कहते हैं

आपको पता होगा कि ईजा उत्तराखंड में मां को कहते हैं। मां को ईजा कुमाऊंनी भाषा में बोलते हैं। इस नाम से धोनी का उत्तराखंड प्रेम साफ झलता। महेंद्र सिंह धोने ने अपने आउटलेट का नाम ईजा रखकर साबित किया कि उनका उत्तराखंड से खास नाता है।

महेंद्र सिंह धोनी का गांव ल्वाली

आपको बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी का मूल गांव उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के जैंती तहसील में है। उनका पैतृक गांव ल्वाली है। इसलिए धोना का उत्तराखंड प्रेम बरकरार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here