किच्छा तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी ने एक ही दिन में की रिकॉर्ड 255 नामान्तरण पत्रावलियां स्वीकृत

रुद्रपुर : (मोहम्मद यासीन) किच्छा तहसील क्षेत्रान्तर्गत लोक अदालत लगाकर रिकॉर्ड बनाते हुए एक दिन में सर्वाधिक दाखिल खारिज राजस्व वादों का निस्तारण किया गया है।

तहसील में विगत अक्टूबर नवम्बर माह में भारी बारिश एवं मतदाता पुनरीक्षण से दाखिल खारिज के वादों में व्यवधान उत्पन्न होने से निस्तारण नहीं हो पाया था। जिस कारण तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी ने विशेष कोर्ट लगाकर एक दिन में 255 दाखिल खारिज वादों का निस्तारण वादी के पक्ष में करने का निर्णय दिया। जनता की तकलीफों को दूर करने के लिए तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी ने निर्विवाद रुप से विचाराधीन नामांतरण वादों के संबंध में शनिवार को विशेष न्यायालय का आयोजन किया। वाद दायर करने वालों के लिए अपना मोबाइल नंबर सार्वजनिक कर जानकारी लेने की अपील की ।

तहसीलदार की पहल का जनता ने लाभ लेते हुए न्यायालय में पहुंचकर या दूरभाष से संपर्क करते हुए कार्य सम्पूर्ण कराया गया। तहसीलदार ने राजस्व कर्मियों से रिपोर्ट तलब कर एक दिन में सर्वाधिक 255 दाखिल खारिज की पत्रावलियों को वादी के पक्ष में आदेश पारित किये।

पूर्व में भी मुख्यमंत्री एवं जिलाधिकारी द्वारा तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी को उनके बेहतरीन व उत्कृष्ठ कार्यों हेतु सम्मानित किया जा चुका है। तहसीलदार जगमोहन त्रिपाठी ने कहा उपजिलाधिकारी किच्छा के मार्गदर्शन एवं राजस्व टीम के सहयोग से किच्छा तहसील को उत्तराखण्ड की बेहतरीन तहसील की श्रेणी में शामिल कराने का प्रयास किया जा रहा है। राजस्व निरीक्षक और उपनिरीक्षकों ने भी काफी मेहनत कर जांच रिपोर्ट एवं राजस्व कार्य त्वरित गति से कराए जा गये हैं। तहसीलदार के प्रयासों से किच्छा तहसील क्षेत्र की जनता ने राहत महसूस करते हुए उनके कार्यों की भूरी भूरी प्रशंसा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here