उत्तराखंड : अमीर बनने के चक्कर में जिम ट्रेनर बन गया लुटेरा, कई वारदातों को दिया अंजाम


रुद्रपुर: ऊधमसिंह नगर के काशीपुर और किच्छा में लूट करने के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इन मामलों का सरगना कोई और नहीं, बिल्क एक जिम ट्रेनर निकला। उसने जल्द अमीर बनने के लिए जिम ट्रेनिंग के लिए आने वाले कुछ युवकों को भी अपने साथ जोड़ लिया और एक गैंग बना ली। उसने पहली वारदात को भी रुद्रपुर में ही अंजाम दिया। पुलिस उस तक नहीं पहुंच पाई तो हिम्मत बढ़ गई।

उसके बाद उसने किच्छा और काशीपुर में भी ज्वेलर्स की दुकान में लूट का असफल प्रयास किया। वो यहीं नहीं रुका वो दरोगा की बाइक लूटकर फरार हो गया। पुलिस ने काशीपुर से लेकर रुद्रपुर तक 125 सीसीटीवी कैमरे खंगालने के बाद लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया। आदर्श कालोनी निवासी सौरभ राय इंटर तक पढ़ा है। पुलिस के मुताबिक इस बीच वह ऑनलाइन मनी ट्रांजेक्शन करने वाली एक कंपनी में भी कई साल काम किया।

इस दौरान उसे बॉडी बनाने का शौक हुआ तो जिम जाने लगा। धीरे धीरे वह रुद्रपुर के एक जिम में ट्रेनर बन गया। इसी बीच उसके मन में जल्द अमीर बनने का सपना पनप गया। ऐसे में उसने नानकमत्ता और हाल आदर्श कालोनी निवासी तरसेम को अपने साथ मिला लिया और कैश मैनेजमेंट कंपनी कर्मी का डेढ़ माह तक रेकी की। 12 जुलाई को मौका मिलने पर उसने कैश मैनेजमेंट कर्मी से तमंचे के बल पर 10 लाख लूट लिए। एक बार फिर से तरसेम के साथ मिलकर किच्छा में 75 हजार की लूट कर दी।

एसओजी प्रभारी कमलेश भट्ट ने बताया कि वारदात के बाद पुलिस और एसओजी ने काशीपुर के साथ ही घटनास्थल और आसपास के अलावा आइटीआइ, बाजपुर, केलाखेड़ा, पैगा, गदरपुर, रुद्रपुर तक 125 सीसीटीवी कैमरे खंगाले और लुटेरों तक पहुंच गई। एसओजी प्रभारी कमलेश भट्ट ने बताया कि गिरोह का सरगना सौरभ राय घटना को अंजाम देने से पहले रेकी करता था। रुद्रपुर और किच्छा में भी उसने रेकी की। जिसके बाद गुरुवार को काशीपुर में ज्वैलर्स की दुकान में लूट की वारदात से पहले उन्होंने रैकी की।

जब ज्वैलर्स स्वामी की पत्नी दुकान में थी तो उन्होंने वारदात को अंजाम देने के लिए पहुंच गए। बताया कि बुर्का में जो बदमाश तमंचा ताने था वह भी सौरभ राय ही था। रुद्रपुर, किच्छा और काशीपुर में लूट की घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों पर गैंगस्टर लगेगा। एसएसपी दलीप ङ्क्षसह कुंवर ने बताया कि सौरभ राय, तरसेम ङ्क्षसह के साथ ही सत्यम कुमार, सचिन कुमार और अरुण कुमार वर्मा उर्फ सोनू ने चार माह में लूट की पांच वारदात को अंजाम दिया। पांचों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है, साथ ही इनके खिलाफ पुलिस गैंगस्टर की भी कार्रवाई करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here