जनरल बिपिन रावत को आदर्श मानते हैं अनुभव, गोरखा रेजिमेंट में ही मिली तैनाती

रानीखेत : बीते दिन आईएमए में पीओपी हुई जिसमे देश के 419 जवानों के कंधे पर सितारे सजे। इनमे से 43 अफसर उत्तराखंड के शामिल थे। वहीं बता दें कि कुमाऊं रेजिमेंट सेंटर मुख्यालय में सैन्य अफसरों व जांबाजों को देख फौजी बन देशसेवा का जज्बा पाले नगर के अनुभव पांडे ने आईएमए में अंतिम पग भर जनपद का गौरव बढ़ाया। खास बात कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत को अपना आदर्श मानने वाले अनुभव को भी गोरखा रेजिमेंट की इनफेंट्री यूनिट में तैनाती मिली है।

मूल रूप से शिशुवा गांव (ताड़ीखेत ब्लाक) निवासी अनुभव पांडे ने शनिवार को भारतीय सैन्य अकादमी की पासिंग आउट परेड में जैसे ही अंतिम पग भरा. इससे परिवार समेत उनके गांव में खुशी की लहर दौड़ गई। भारतीय सेना में सैन्य अधिकारी बने अनुभव के पिता दिनेश चंद्र पांडे विकासखंड कार्यालय में प्रशासनिक अधिकारी के पद पर तैनात हैं।

मां हैं राजकीय प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका

आपको बता दें कि अनुभव की मां गीता पांडे राजकीय प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापिका हैं। वर्तमान में नगर के जरूरी बाजार निवासी अनुभव की प्रारंभिक शिक्षा गोविंद सिंह माहरा स्प्रिंग फील्ड पब्लिक स्कूल से हुई। आर्मी पब्लिक स्कूल से 12वीं उत्तीर्ण करने के बाद साल 2017 में इस मेधावी का चयन एनडीए के लिए हो गया। चार साल की कठिन ट्रेनिंग के बाद अनुभव भारतीय सेना के अंग बन गए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here