राहुल गांधी के ट्वीट को भाजपा ने बताया सैनिकों का अपमान, कहा-माफी मांगे हरीश रावत

देहरादून : ग्ल्वान घाटी पर तिरंगा फहराने को लेकर राहुल के विवादित ट्वीट को भाजपा ने सैनिकों का अपमान बताया है। पार्टी की और से आधिकारिक प्रतिकृया देते हुए प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि चुनाव को देखते हुए सुविधावादी सैन्य प्रेमी बने कॉंग्रेस पार्टी के हरीश रावत और अन्य नेता क्या अपने शीर्ष नेता द्वारा भारतीय जवानों के शौर्य पर लगाए इस प्रश्नचिन्ह पर माफी मनवाने की हिम्मत करेंगे।

प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने किया हरदा पर हमला

प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि उत्तराखंड जैसे सैन्य बहुल प्रदेश के सैकड़ों जवान खून जमाने वाली ठंड में देश की सीमाओं पर डटे हैं और उनके नेता बार बार देश का मनोबल तोड़ने वाली झूठी खबरें फैलाते हैं। क्या उनको चीन की समाचार ऐजेंसी से या चीन के दूतावास से खबरें ब्रीफ़ होती हैं, वह भी जब भारतीय समाचार ऐजेंसियों ने ग्ल्वान में तिरंगा लगी फोटो भी जारी की है। उत्तराखंड और देश के जवानों का अपमान करने वाले राहुल के संदेश को लेकर, कल तक वीर सैनिक ग्राम यात्रा निकालने वाले कोंग्रेसी नेताओं को तो कम से कम माफी मांग लेनी चाहिए।

प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि हालांकि भाजपा को विश्वास है कि ऐसा कुछ नहीं होने वाला और न हरीश रावत और न ही गोदियाल, प्रीतम या कोई अन्य कोंग्रेसी राहुल से माफी मनवाने की हिम्मत करेगा और न ही स्वयं माफी माँगेगा। क्यूंकि कॉंग्रेस ने कभी भी भारतीय सेना का सम्मान नहीं किया और इनका चुनावी सैनिक प्रेम पूरी तरह ढोंग है जिसे जनता बखूबी जानती है |

भारत की पवित्र भूमि पर हमारा तिरंगा ही फहराता अच्छा लगता है-राहुल गांधी

आपको बता दें कि ट्विटर पर चीनी सैनिकों द्वारा गलवान में अपना झंटा फेराने का वीडियो वायरल हुआ था जिसके बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया था कि भारत की पवित्र भूमि पर हमारा तिरंगा ही फहराता अच्छा लगता है।। इस ट्वीट से राहुल गांधी भाजपा के निशाने पर आ गए। हालांकि फिर तुरंत हरकत में आते हुए भारतीय सैनिकों ने वहां जाकर अपना झंडा फहराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here