उत्तराखंड: मेले में मची लूट, दुकानें बंद कर थाने पहुंचे व्यापारी, इन पर गंभीर आरोप

खटीमा: सीमांत क्षेत्र झनकईया में गंगा दशहरे के अवसर पर हर वर्या आयोजित होने वाले मेले में व्यापारियों ने मेला कमेटी पर अवैध बसूली का आरोप लगाया है। व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर थाने का घेराव किया। गंगा दशहरे के दिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने गृह क्षेत्र में लगने वाले इस मेले का शुभारंभ किया था। मेले में दुकानें लगाने वाले व्यापारियों का आरोप है कि मेला क्षेत्र में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं। उसके बावजूद भी मेला कमेटी द्वारा मनमाने ढंग से उनसे पैसे बसूले जा रहे हैं।

सीमांत खटीमा के झनकईया नहर पर वन क्षेत्र में वर्षों से लगने वाले गंगा स्नान मेले के व्यवसायियों व व्यापारियों ने मेला कमेटी द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न अवैध वह मनमानी वसूली तथा अभद्रता का गंभीर आरोप लगाया है। वहीं, मेले के दुकानदारों ने मेला कमेटी पर पैसे लेने के बाद पर्ची नहीं देने का आरोप लगाया। दुकानदारों ने बताया कि हम लोग 3 दिन से खाना नहीं खा रहे हैं। लेकिन, पर्ची का पैसा चुकता कर रहे हैं।

एक मूंगफली ठेले वाले व नाक-कान छेदने वालों और कॉस्मेटिक्स के व्यवसायियों ने रसीद दिखाकर अपनी व्यथा व्यक्त करते हुए बताया कि 1000 से लेकर 3000 तक की वसूली की जा रही है। इसके बाद भी कुछ लोग शराब वह गुटके के नाम पर पैसा मांग कर हम लोगों के साथ अभद्रता व शोषण कर रहे हैं। दुकानदारों ने मेला कमेटी पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि हम लोगों से एक बल्ब जलाने के एवज में 500 रुपए वसूली की जा रही है।

खटीमा व्यापार मंडल अध्यक्ष अरुण सक्सेना मौके पर पहुंचे इस दौरान मेले में दुकानें लगा रहे व्यापारियों वह कमेटी के पदाधिकारियों के बीच हुई वार्ता के बाद अरुण सक्सेना ने बताया कि कमेटी सही ढंग से मेले का संचालन नहीं कर रही है। साथ ही दूरदराज से मेले में आए दुकानदारों का शोषण किया जा रहा है। अभद्रता भी की जा रही है। महिलाओं के नहाने व शौचालय आदि की कोई व्यवस्था मेले में नहीं है। मेला कमेटी की मनमानी और तानाशाही दिन पर दिन बढ़ती जा रही है।

खटीमा के झंनकईया थाना अध्यक्ष दिनेश सिंह फर्त्याल ने कहा कि मेले में दुकान लगा रहे दुकानदारों द्वारा मेला कमेटी की शिकायत लेकर थाने में आए थे।मेला कमेटी व दुकानदारों को आमने-सामने बैठाकर समस्या का निवारण कर दिया गया है। कमेटी को नियमानुसार कार्य करने का निर्देश दिया गया है। जिन दुकानदारों से अवैध वसूली व पर्ची काटी गई है उनका पैसा वापस करवा कर उनको न्याय देने की बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here