उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए जेल प्रशासन ने लिया बड़ा फैसला

हल्द्वानी : उत्तराखंड में बढ़ते कोरोना के कहर को देखते हुए एक बार फिर से सख्ती बढ़ा दी है। सरकार ने भी सख्ती बढ़ानी शुरु कर दी है। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। मास्क को पहनना जरुरी है वरना कार्रवाई की जाएगी।

वहीं कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए जेल प्रशासन ने भी बड़ा फैसला लिया है. बता दें कि जेल में मुलाकात पर फिर रोक लगा दी गई है। इसके साथ बैरक में कैदियों को शरीरिक दूरी का भी ध्‍यान रखना होगा। बंदी व कैदियों के स्वजन घर से वीडियो कालिंग पर बात कर सकते हैं। प्रतिबंध कब तक रहेगा फिलहाल इस बारे में भी कुछ भी स्‍पष्‍ट नहीं है।

आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण को लेकर जेल में मुलाकात डेढ़ साल से बंद थी। दो माह पहले ही मुलाकात शुरू हुई। 72 घंटे की आरटीपीसीआर रिपोर्ट दिखाने पर मुलाकात कराई जा रही थी। राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर जेल प्रशासन ने एहतियात बरतना शुरू कर दिया है। आइजी जेल पुष्पक ज्योति ने अब फिर से मुलाकात पर रोक लगाने के आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही निर्देश दिए हैं कि जेल में सभी बंदी और कैदियों, कर्मचारियों को मास्क और 2 गज की दूरी बनानी होगी। हल्द्वानी जेल में वीडियो कालिंग के लिए काउंटर बनाया गया है। जहां पर बारी-बारी से बात हो सकेगी।

जेल अधीक्षक सतीश सुखीजा ने बताया कि जेल आइजी ने मुलाकात पर रोक लगाने के निर्देश जारी किए हैं। जेल में मुलाकात अग्रिम आदेश तक बंद कर दी है। कर्मचारी भी परिसर में मास्क पहनकर आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here