देहरादून : कार खड़ी करके सामान लेने जा रहे हैं तो सावधान, ये गैंग शीशा तोड़कर चोरी करता है

देहरादून : बसंत विहार थाना पुलिस ने रैकी कर सड़कों पर खड़े वाहनों के शीशे तोड़कर उसमे रखा सामान आदि चोरी करने वाले तीन टप्पेबाजों को गिरफ्तार किया है।

दरअसल 18 अगस्त को पटेलनगर के नारायण विहार निवासी ऋषभ शाह पुत्र श्री देवेंद्र शाह ने बसंत विहार थाने पर शिकायत दर्ज कराई कि वो अपनी कार से शाम को अलकनन्दा एन्क्लेव, जीएमएस रोड पर खड़ी करके दुकान से सामान लेने गए थे। थोड़ी देर बाद वापस आकर देखा तो कार का बायें तरफ का शीशा टूटा हुआ था और पिछली सीट पर रखा बैग, जिसमें एक लेपटॉप, अन्य सामान एवम नकदी आदि थी, को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा चोरी कर लिया गया है। इस सूचना पर थाना बसंत विहार पर तत्काल अभियोग पंजीकृत किया गया। टप्पेबाजों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित की गई।

टीम ने मुखबिर तन्त्र को सक्रिय किया और पूछताछ के साथ घटनास्थल के आस पास सीसीटीवी को खंगाला। सीसीटीवी में एक कार स्विफ्ट डिजायर सन्दिग्ध प्रतीत हुई, जिसके नंबर को फ़िल्टर कराया गया तो उक्त कार दिल्ली नंबर की होना पाई गई। कार की तलाश के लिए मुखबिर तंत्र सक्रिय करते हुए उक्त वाहन के सम्बंध में जानकारी ली गई। इसके आधार पर 13 नवंबर की शाम को घटना में संलिप्त उक्त वाहन समेत 3 आऱोपियों को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।

आरोपियों का नाम पता

1. मनीष उर्फ मोनू पुत्र धर्मेन्द्र निवासी ग्राम मुखमेल पुर थाना अलीपुर जिला नार्थ दिल्ली हाल निवासी अमृत विहार बुराड़ी, थाना नार्थ दिल्ली, उम्र 27 वर्ष।
2. संदीप चौहान पुत्र दयाराम चौहान निवासी संतनगर गली न. 102 थाना बुराड़ी, जिला नार्थ दिल्ली, उम्र 30 वर्ष।
3. महेंद्र कुमार उर्फ फौजी पुत्र पारस नाथ निवासी ग्राम बोदरी थाना जौनपुर जिला वाराणसी, उत्तर प्रदेश हाल 77/21 सत्य बिहार कॉलोनी थाना बुराड़ी जिला नार्थ दिल्ली, उम्र 30 वर्ष।

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि यह तीनों आस पास ही रहते हैं, लॉकडाउन में उनके पास कोई काम नहीं था। उन्होंने मिलकर पैसे कमाने की सोची और वो मोहल्ले के मोहित वालिया से मिले, जिसने उन्हें बताया कि बड़े- बड़े शहरों में लोग कार में कीमती सामान रखते हैं और सामान को कार में छोड़कर चले जाते हैं, जिसका शीशा तोड़कर उनमें रखा कीमती सामान चोरी करके उसको बेचकर अच्छा पैसा मिल जाता है। इससे वो लालच में आ गए।

बताया कि उन्होंने दिल्ली में कई जगह ऐसे घटनाओं को अंजाम दिया और अच्छा पैसा कमाया। उसके बाद उन्होंने पिछले महीने देहरादून घूमने और यहाँ पर भी घटना करने की योजना बनाई। योजना के मुताबिक पिछले महीने हम तीनों संदीप की कार, जिसे हम घटना में प्रयोग करते हैं, से देहरादून आये और फिर जब हम देहरादून में घूम रहे थे तो एक कार में बैग रखे दिखाई दिए, जिसका गुलेल से शीशा तोड़कर हमने बैग चोरी कर लिए थे। हमे कार से जो भी लेपटॉप या मोबाइल आदि समान मिलता है, उसे महेंद्र olx एवम अन्य लोगों को अच्छी कीमत में बेच देता है और फिर हम तीनों पैसा आपस में बांट लेते है। हमारे पास से 05 अन्य लेपटॉप जो मिले है, वो भी हमने ऐसे ही कार का शीशा तोड़कर दिल्ली में अलग- अलग जगहों से चोरी किये थे, जिन्हें हम बेचने के लिए जा रहे थे कि पकड़े गए।अभियुक्तगण पूर्व में भी चोरी की घटनाओं में जेल गए है, जिनके आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।

बरामदगी
थाना बसंतविहार की घटना से संबंधित
1. एक लैपटॉप एचपी कंपनी
2. एक माउस, एक चार्जर
3. एक रबर गुलेल
4. दो बैग
5. आधार कार्ड आदि (वादी के)
6. घटना में प्रयुक्त कार स्विफ्ट डिजायर नंबर DL 8CAG- 5374

अन्य घटनाओं से संबंधित 05 लेपटॉप विभिन्न कंपनी के, जिनको दिल्ली से विभिन्न स्थानों से चोरी करना बताया, जिनके संबंध में जानकारी की जा रही है।
कुल बरामद लेपटॉप की संख्या- 06
बरामद माल की कुल अनुमानित कीमत करीब 1 लाख 60 हजार रुपये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here