सीएम धामी बोले, जो ईमानदार उन्हे डरने की जरूरत नहीं, देवभूमि को भ्रष्टाचार मुक्त बनाएंगे

cm dhami in corruption seminar

उत्तराखंड में करप्शन के खिलाफ सीएम धामी सख्त दिख रहें हैं। राज्य में भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सरकार ने विजिलेंस को मजबूत करने काम मन बना लिया है। इसके लिए सरकार ने बड़ी पहल का ऐलान किया है।

बुधवार को देहरादून के सर्वे चौक स्थित आई.आर.डी.टी सभागार में सुशासन, पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड के सबंध में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस दौरान सीएम धामी ने विजिलेंस के लिए 02 करोड़ रूपये का रिवॉल्विंग फण्ड बनाने का ऐलान किया है। सीएम ने कहा है कि राज्य में विजिलेंस को सशक्त बनाया जायेगा, इसके ढ़ाचे एवं अन्य सुविधाओं को बढ़ाया जायेगा। विजिलेंस में सराहनीय कार्य करने वाले कार्मिकों को प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 04 विसलब्लोवर को सम्मानित भी किया।

बड़ी खबर। टीचर्स ने अगर सीएम, मंत्रियों, गवर्नर को सीधे लिखी चिट्ठी तो खैर नहीं…

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त देवभूमि का संकल्प लिया है। 2025 तक उत्तराखण्ड को भ्रष्टाचार मुक्त एवं नशामुक्त बनाने का लक्ष्य रखा गया है। भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड के लिए सभी विभागों को विजिलेंस के साथ समन्वय से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में विजिलेंस को और मजबूत बनाना है। उन्होंने कहा कि जो ईमानदारी से कार्य कर रहे हैं, उन्हें किसी से डरने की जरूरत नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखण्ड के लिए 1064 एप लॉच होने के बाद से इस एप पर अभी तक 5 हजार से अधिक शिकायतें आ चुकी हैं। जो शिकायतें भ्रष्टाचार से संबंधित हैं, उन पर सतर्कता विभाग द्वारा लगातार कारवाई की जा रही, जो सराहनीय कार्य है। जो शिकायतें भ्रष्टाचार से संबंधित नहीं हैं, लेकिन 1064 पर प्राप्त हो रही हैं, उन्हें सीएम हेल्पलाईन से जोड़ा गया है, ताकि जन समस्याओं का तेजी से समाधान हो सके। इस दिशा में भी सतर्कता विभाग द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जन समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए सरकार सरलीकरण, समाधान, निस्तारण एवं संतुष्टि के भाव से कार्य कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here