तैयारी के बिना CM से करा दिया अस्पताल का उद्घाटन, वेंटिलेटर के अभाव में महिला की मौत, क्या कहेंगे दावा करने वाले बाबा

 हरिद्वार :  हरिद्वार में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है महाकुंभ के समापन के बाद कोरोनावायरस में बढ़ोतरी हुई है वहीं बड़ी खबर हरिद्वार से ही है जहां वेंटिलेटर के अभाव में महिला की मौत हो गई।

आपको बता दें कि यह अस्पताल महाकुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के इलाज के लिए बनाया गया था। कोरोना संक्रमण के बढ़ते कहर को देखते हुए इसे कोविड सेंटर में तब्दील किया गया था। बीते दिन मंगलवार को सीएम तीरथ सिंह रावत ने उद्घाटन किया था। यह अस्पताल पतंजलि के सहयोग से चलना है। इस दौरान बाबा रामदेव ने मीडिया को बताया था कि अस्पताल में कोरोना मरीजों का इलाज पतंजलि करेगी और सभी मरीजों का इलाज प्राकृतिक रूप से होगा। उद्घाटन के एक दिन बाद ही महिला की वहां वेंटिलेटर के अभाव में मौत हो गई जिससे उनके परिजनों में आक्रोश है। बडा़ सवाल यह उठ रहा है कि सीएम से बिना तैयारी के कोविड सेंटर का उद्घाटन कैसे करा दिया गया? बाबा अब इस मामले द्म क्या कहेंगे।

बता दें कि आज बुधवार को वेंटिलेटर न मिलने की वजह से 65 साल की महिला की अस्पताल में मौत हो गई। जानकारी मिली है कि मृतक का बेटा कल से अपनी मां के इलाज के लिए भटक रहा था, जहां आज वेंटिलेटर के अभाव में महिला की मौत हो गई। परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया। कुंभ के लिए बने आधार चिकित्सालय को कोविड केयर सेंटर बनाया गया था। कल ही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पतंजलि योगपीठ द्वारा संचालित हो रहा है इस कोविड सेंटर का उद्घाटन किया था।

नरेश तोमर हरिद्वार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here