उत्तराखंड : वसीम जाफर के समर्थन में अनिल कुंबले, सहगल बोले- सेटिंग से खिलाड़ियों को टीम में पहुंचाया जा रहा

हरिद्वार में भी क्रिकेट के खिलाडी उत्तराखंड क्रिकेट टीम के कोच रहे वसीम जफ़र के समर्थन में आये। आज शुक्रवार को हरिद्वार के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी रोहन सहगल ने उत्तराखंड क्रिकेट टीम के कोच रहे वसीम जाफर के समर्थन में पीसी की। प्रेस वार्ता के दौरान उन्हें कहा कि उत्तराखंड क्रिकेट के लिए यह एक काला दिन है और इसके लिए हम इस प्रकरण की घोर निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि क्रिकेट भी राजनीति का अखाड़ा बन गया है जिस तरह से गेटिंग सेटिंग के जरिए खिलाड़ियों को टीम में पहुंचाया जा रहा है और सही खिलाड़ियों को उनका सही स्थान नहीं मिल पा रहा है। ऐसे वरिष्ठ खिलाड़ी और कोच का स्थाई इस्तीफा देना यह बात दर्शाता है कि यह बात बिल्कुल सही है. हम प्रेस के माध्यम से आज यह कहना चाहते हैं कि क्रिकेट में सही खिलाड़ी को मौका मिले जिससे कि उत्तराखंड क्रिकेट टीम का भविष्य उज्जवल हो और मेहनत करने वाले खिलाड़ियों को इंसाफ मिल सके|

आपको बता दें कि वसीम जाफर ने मंगलवार को उत्तराखंड की टीम के कोच पद से इस्तीफा दिया था. वसीम जाफर के इस्तीफा देने के बाद ही बोर्ड ने उन पर फील्ड में मौलवियों को बुलाने समेत कई आरोप लगाए. वसीम जाफर ने ट्वीट कर अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज किया है.जाफर ने सीएयू के सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि उन्होंने कभी भी ट्रेनिंग के दौरान मौलवियों को नहीं बुलाया। वसीम जाफर ने क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद उत्तराखंड की टीम के कोच का पद संभाला था. जाफर के इस्तीफा देने के बाद ही बोर्ड और पूर्व भारतीय क्रिकेटर के बीच एक-दूसरे पर आरोप लगाने का सिलसिला शुरू हुआ.

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने आरोप लगाया कि वसीम जाफर टीम में मुस्लिम खिलाड़ी को बढ़ावा दे रहे थे. बोर्ड का आरोप था कि जाफर ने चंदिला की जगह इकबाल अब्दुल्ला को टीम का कप्तान बनाया. इसके साथ ही जाफर पर बायो बबल में ट्रेनिंग कैंप के दौरान मौलवियों को बुलाने का आरोप भी लगा.वसीम जाफर ने कोच पद से इस्तीफा देने की वजह को भी बयां किया है. पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि मैंने इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि सिलेक्टर्स ऐसे खिलाड़ियों को चुन रहे थे जो कि टीम में जगह पाना डिजर्व नहीं करते. टीम सिख समुदाय से जुड़ा हुआ नारा लगाती थी जिसके बताए मैंने गो उत्तराखंड कहने की वकालत की.
वहीं बता दें कि बता दें कि वसीम जाफर को इस मामले में पूर्व खिलाड़ियों का साथ भी मिला है. टीम इंडिया के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने कहा है कि वह पूरी तरह से वसीम जाफर के साथ हैं और उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है. मनोज तिवारी भी वसीम जाफर के समर्थन में आए हैं. वसीम जाफर के नाम रणजी क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here