उत्तराखंड में बोले लोकसभा अध्यक्ष, 5 घण्टे 42 मिनट की चर्चा के बाद पास हुआ था बिल, विरोध का अधिकार

देहरादून : लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला आज शुक्रवार को देहरादून पहुंचे जहां कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे ने देहरादून में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का स्वागत किया. देहरादून प्रेमनगर स्थित एक होटल में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पंचायती राज के कार्यक्रम में भाग लिया। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने दीप प्रज्वालित कर कार्यक्रम का उद्धाटन किया। इस दौरान उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल भी मौजूद रहे। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत इस कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े।

वहीं इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की प्रेस वार्ता आयोजित की गई। पंचायत राज व्यवथा को मजबूत करने के लिए आयोजित कार्यक्रम पर ओम बिरला ने कहा कि लोकसभा देश की सर्वोच्च संस्था है। सभी संस्थाएं मजबूत हों इसलिए समय समय पर सभी लोकतांत्रिक संस्थाओं के बीच संवाद होना चाहिए। कहा कि उत्तराखंड से एक नई शुरुवात की है जिसके तहत पंचायत प्रतिनिधियों के साथ परिचर्चा की गई है। उत्तराखंड प्रदेश की भौगोलिक परिस्थित ऐसी है जहाँ क्षेत्र एक सीट पर काफी फैला हुआ है। ओम बिरला ने कहा कि इसलिए जनता की उम्मीदों पर खरा उतरा जाए इसके लिए संवाद भी जरूरी है।

आगे लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि संविधान को सभी जानते हैं लेकिन सविधान के महत्व को सभी जाने इसलिए अभियान चला जाएगा। बेहतर काम करने वाले जन प्रतिनिधियों को सम्मानित किया जाना चाहिए। कई राज्यों ने इसे अपनाया भी है। लोकतंत्र में चर्चा संवाद से ही समाधान निकला है। कहा कि ग्राम पंचायत से आत्म निर्भर भारत बने इन पर भी चर्चा जरूरी है। ओम बिरला ने कहा कि दिल्ली के अंदर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा जिसमे पंचायत प्रतिनिधियों और निकाय प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की जाएगी जिससे ये संस्था मजबूत हो सके।

संसद के बजट सत्र पर लोक सभा अध्यक्ष ने कहा कि बजट सत्र पूरी तैयारियां के साथ चलेगा। तय समय और विपक्ष के सभी सवालों का सत्र में जवाब दिया जाएगा। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोविड के चरम दौर के चलते संसद का शीतकालीन सत्र टाला था। वहीं कृषि कानूनों पर किसानों के विरोध के सावल पर लोकसभा अध्यक्ष बोले कि लोक सभा में 5 घण्टे 42 मिनट की चर्चा के बाद कृषि सुधार विधेयक पास हुआ था। साथ ही कहा कि लोकसभा में विरोध करने का भी अधिकार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here