आतंकियों से लोहा लेते हुए जवान शहीद, पत्नी-बेटे औऱ दो भाइयों का थे इकलौता सहारा

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ में 6 आतंकी मार गिराए गए।  लेकिन इस दौरान देश ने एक जवान खो दिया. मिली जानकारी के अनुसार आतंकियों से लोहा लेते हुए राजस्थान निवासी नायक राजेंद्र सिंह(27), मोहनगढ़, जैसलमेर शहीद हो गए. इस खबर से घर में कोहराम मच गया. जवान का एक साल का बेटा है जो कि पिता की शहादत की खबर से बेखबर है.

22 राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे शहीद जवान

आपको बता दें कि शहीद नायक राजेंद्र सिंह जैसलमेर के मोहनगढ़ के निवासी थे और 22 राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे। दरअसल सेना को शनिवार सुबह जानकारी मिली थी कि जम्मू-कश्मीर के रामबन इलाके में एक परिवार को तीन आतंकियों ने बंधक बना लिया है। जिस पर सेना ने कार्रवाई करते हुए सभी बंधकों को मुक्त करवाया और मुठभेड़ में तीनों आतंकी मार गिराया। इस दौरान राजेंद्र शहीद हो गए.

पत्नी, बेटे औऱ दो भाइयों का थे सहारा

मिली जानकारी के अनुसार शहीद राजेंद्र सिंह के पिता भी सेना में थे और कुछ वर्ष पूर्व भी उनके माता-पिता दोनों का देहांत हो चुका है। उनके परिवार में उनकी पत्नी, 1 साल का बेटा और दो छोटे भाई हैं। उनके दोनों भाई मोहनगढ़ में प्राइवेट नौकरी करते हैं। शहीद का पार्थिव शरीर रविवार को उनके घर पहुंचा और सम्भवतः रविवार शाम या सोमवार सुबह शही’द का अंतिम संस्कार होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here