युवा कलेक्टर की दरियादिली, अपने चैंबर से AC निकलवाकर बच्चों के कमरे में लगाया

समूचा उत्तर भारत के लोग गर्मी की तपिश झेल रहे हैं. ऐसे में अस्पताल में एडमिट मरीजों का भी गर्मी से बुरा हाल है ऐसे में एक जिला कलेक्टर ऐसा है जिसने लोगों के बारे में सोचा और अपने चैंबर कमरे का एसी हटाकर अस्पताल के कमरों में लगाया जहां मरीज भर्ती थे.

युवा कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी की दरियादिली

दरअसल मध्यप्रदेश के उमरिया जिले के युवा कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने अपने कमरे से एसी निकलवा कर बच्चों के कमरों में लगाया जहां वो भर्ती हैं. आपको बता दें कि अस्पताल सह बच्चों का पोषण पुनर्वास केंद्र हैं, जहां कुपोषित बच्चों की देखरेख होती है औऱ उनका इलाज होता है जहां कुपोषित बच्चों को दवाईयां देकर सामान्य बनाया जाता है।

उमरिया मध्यप्रदेश के सबसे गरम जिलों में से एक 

मध्यप्रदेश के सबसे गरम जिलों में से एक उमरिया में भी पारा 45 से पार है, ऐसे में पोषण पुनर्वास केंद्रों में बहुत गर्मी है। जिससे वहां मौजूद बच्चों को भारी समस्याए झेलनी पड़ रही है। यह देख उमरिया जिले के कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने अपने कक्ष और कार्यकाल हॉल से कूलर व एयर कंडीशनर हटाकर जिले के पोषण पुनर्वास केंद्रों में लगवा दिया। उनके इस व्यवहार को देखकर जिले के लोग उनकी खूब सराहना कर रहे है।

उन्होंने बताया कि ब्लॉक में चार एनआरसी बिल्डिंग है। जो गर्मियों में बिल्कुल तप जाती है। जिससे वहां मौजूद बच्चों को काफी परेशानियां झेलनी पड़ती है। गर्मी में रहने की वजह से उनकी तबीयत खराब होने की संभावना बनी रहती है।दरअसल, उमरिया जिले के पोषण पुनर्वास केन्द्रों में गर्मी के चलते कुपोषित बच्चे बेहाल थे। हालांकि कलेक्टर ने इन केन्द्रों में AC लगाने निर्देश जारी कर दिए थे, लेकिन AC लगाने में देरी हो रही थी।

ऐसी स्थिति में कलेक्टर सोमवंशी ने तत्काल निर्णय लेते हुए अपने चैंबर और ऑफिस हॉल के ऐसी निकालकल पुनर्वास केन्द्रों में लगाने के आदेश जारी कर दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here