पहाड़ी उत्पादों को नई पहचान देगा येला हिल्स, राज्यपाल ने किया शुभारंभ

उत्तराखंड की महिलाओं को ,रोजगार व उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रयासरत “महिला उत्थान बाल कल्याण संस्थान, उत्तराखंड “के द्वितीय वर्षगांठ के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।कार्यक्रम में “यैलो हिल्स” जो संस्था के समानांतर ही कार्यरत है और जिसका मुख्य उद्देश्य संस्था के कारीगरों व उत्तराखंड के अन्य लोग ,जो कृषि व लघु उद्योगों में संलग्न है, उन्हें बाजार प्रदान करना व उनकी समस्याओं का निराकरण करना है।, उसका विधि पूर्वक शुभारंभ किया गया। राज्यपाल बेबी रानी मौर्या ने येलो हिल्स की रेंज का शुभारंभ किया है। इस दौरान राज्यपाल ने पहाड़ के लोगों की मदद के लिए उठाए गए इस कदम की सराहना की।

संस्था की अध्यक्ष “अनुकृति गोसाई रावत” के अनुसार “संस्था ने सर्वे के दौरान पाया कि कई जगह संसाधन है लेकिन लोग उनका उपयोग व उपभोग से अनजान है। उत्तराखंड के ऐसे लोग, विशेषता जो पहाड़ी इलाकों से है ,की मदद करना चाहती है कि उनके उत्पादों को नई पहचान मिल सके व बाजार तक उनकी पहुंच हो सके। उत्तराखंड में संभावनाएं बढ़ेंगी तो पलायन रोकने में भी मदद मिलेगी। हम उत्तराखण्ड की हस्तकला, ऑर्गेनिक उत्पाद व संस्कृति को अंतरराष्ट्रीय बाज़ार तक पहुंचाना चाहते हैं।

संस्था पिछले 2 वर्षों से महिला उत्थान बाल कल्याण के लिए कार्य कर रही है। कई तरह का परीक्षण प्रशिक्षण व रोजगार संस्था द्वारा महिलाओं को प्रदान किया जा रहा है। संस्था की अध्यक्षा “अनुकृति गोसाईं रावत” का कहना है” हमारी संस्था द्वारा कई विकल्प प्रदान किए जाते हैं व रूचि के अनुसार विभिन्न क्षेत्रों में महिलाएं बहुत उत्साह पूर्वक न सिर्फ प्रशिक्षण लेती है बल्कि उन्हें रोजगार के अवसर भी प्रदान किए जाते है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here