गैरसैंण स्थायी राजधानी बनाने को लेकर दून में महिलाओं ने फूंका बिगुल, पुलिस प्रशासन के छूटे पसीने

देहरादून- जहां एक ओर गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने की मांग को लेकर भराड़ीसैंण के विधानसभा भवन में चल रहे बजट सत्र के दौरान जमकर बवाल हुआ. आंदोलनकारियों ने पुलिस के भी पसीने छुटा दिए थे. राजधानी बनाने को लेकर कोई फैसला न होने से आंदोलनकारियों के तेवर और उग्र हुए। जो आरपार की लड़ाई के मूड़ में हैं। गुस्साए सैकड़ों आंदोलनकारियों ने गुरुवार को फिर गैरसैंण बाजार के तिराहे पर जाम लगा दिया।

वहीं उत्तराखंड महिला मंच की अध्यक्ष निर्मला बिष्ट के नेतृत्व में उत्तराखंड महिला मंच के कार्यकर्ताओं ने आज गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने के लिए घंटाघर के चारों तरफ रोड़ जाम कर दिया.

आलम यह था कि पूरा देहरादून शहर ज्यों का त्यों थम गया,  हर ओर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई. जिससे पुलिस प्रशासन के भी पसीने छूट गए. उत्तराखंड महिला मंच के कार्यकर्ताओं ने अपना प्रदर्शन लगातार जारी रखा.

वहीं आंदोलनकारियों की पुलिस व जनता से नोक-झोक भी हुई. काफी मशक्कत के बाद पुलिस के समझाने-बुझाने पर महिलाओं ने अपना आंदोलन खत्म किया.

महिला मंच की अध्यक्ष निर्मला बिष्ट ने बताया कि भाजपा की सरकार जब से राज्य में आई है तबसे राज्य को अनेक समस्याओं का सामना करने के साथ-साथ राज्य पिछड़ता चला गया है. महिलाओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक गैरसैंण को स्थाई राजधानी घोषित नहीं कर देते वह अपना आंदोलन जारी रखेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here