काठगोदाम एक्सप्रेस में महिला से छेड़छाड़, विरोध करने पर चलती ट्रेन से फेंका

लखनऊ जा रही काठगोदाम एक्सप्रेस ट्रेन के अंदर शोहदों ने दुस्साहस किया। बरेली के पीतांबरपुर रेलवे स्टेशन पर छेड़खानी का विरोध करने पर युवती को चलती ट्रेन से फेंकने का मामला सामने आया है. युवक ट्रेन की अंतिम बोगी में बेठी युवती को अकेला देखकर उससे छेड़खानी शुरू कर दी. जिसका युवती ने विरोध किया. जिससे गुस्साए युवक ने युवती का मोबाइल छीन लिया और उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया. घायल युवती को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कर दिया है.

पुलिस के मुताबिक यह घटना गुरुवार शाम की है. उत्तर प्रदेश के देवरिया की रहने वाली 20 वर्षीय युवती काठगोदाम एक्सप्रेस में सवार होकर अपने गांव जा रही थी. युवती शाम 4 बजे लखनऊ जाने के लिए काठगोदा एक्सप्रेस में सवार हुई थी. युवती ने बताया कि जैसे वह ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन पर पहुंची. ट्रैन चलने लगी. जिस कारण वह ट्रेन के आखिरी बोगी में चढ़ गई. बोगी में युवती के अलावा कोई ओर नहीं था. कुछ देर बाद उसी बोगी में एक युवक भी चढ़ गया.

युवती को बोगी में अकेला पाकर युवक उससे जबरन छेड़खानी करने लगा. जिसका लड़की ने विरोध किया. युवती द्वारा विरोध करने पर गुस्साए युवक ने उसका मोबाइल छीन कर उसे चलती ट्रेन से धक्का देकर नीचे फेंक दिया. युवती ट्रेन से गिरकर बेहोश हो गई. होश में आने के बाद युवती ने गांववालों को आपबीती बताई. गांववालों तुरंत पुलिस को घटना की जानकारी दी. पुलिस ने गांववालों की मदद से घायल युवती को अस्पताल में भर्ती कराया. वहीं घटना की सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. पुलिस युवती की शिकायत पर आरोपी युवक की तलाश में जुट चुकी है. पुलिस का कहना है कि वह तुरंत ही आरोपी युवक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी.

इस पर एसएसपी शैलेश पांडेय का कहना है कि ट्रेन के अंदर होने वाली आपराधिक घटनाओं में जीआरपी कार्रवाई करती है। पीआरवी ने तात्कालिक मदद की होगी। नियमानुसार जीआरपी को कार्रवाई करनी चाहिए। पुलिस महिला अपराध के प्रति गंभीर है, इसमें जीआरपी को जो भी मदद चाहिए, वह की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here