हाथ जोड़कर, कान पकड़कर कहते रहे, ‘सॉरी डीएम अंकल माफ कर दो’, फिर मांग पूरी नहीं हुई

नोएडा: स्कूलों में छुट्टी के लिए डीएम का फर्जी आदेश जारी करने के मामले में पकड़े गए 12वीं के दोनों छात्रों को पुलिस ने मंगलवार दोपहर बाल सुधार गृह भेज दिया। इसके बाद दोनों के समर्थन में उनके स्कूल के छात्र-छात्राएं सामने आए और दोपहर बाद से देर शाम तक डीएम आवास पर धरना दिया। छात्र-छात्राओं ने हाथ जोड़कर और कान पकड़कर डीएम से माफी मांगी और दोनों छात्रों को छोड़ने की विनती की। देर शाम को पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने छात्र-छात्राओं को समझाकर घर वापस भेजा।

पुलिस के अनुसार, 100 से अधिक छात्र-छात्राएं मंगलवार दोपहर कोतवाली सेक्टर-20 पहुंच गए। यहां पुलिस ने बताया कि दोनों छात्रों को फेज टू बाल सुधार गृह भेज दिया गया है। इसके बाद सभी छात्र डीएम कैंप ऑफिस पहुंच गए। यहां पर छात्र-छात्राएं अपने कान पकड़कर घंटों बैठे रहे। वे रोते हुए बार-बार कह रहे थे कि डीएम अंकल खेल-खेल में गलती हो गई, माफ कर दो। आखिर गलती बच्चों से नहीं होगी तो किससे होगी। दोनों छात्रों को बाल सुधार गृह नहीं भेजना चाहिए था। इसके बाद पुलिस ने सभी को समझाने का काफी प्रयास किया।

छात्र-छात्राओं ने आरोप लगाया कि डीएम अंकल ने दोनों छात्रों का भविष्य खराब कर दिया। दोनों विज्ञान के छात्र थे दो दिन बाद प्रयोगात्मक परीक्षाएं हैं। इसके बाद बोर्ड की परीक्षाएं हैं। ऐसे में उनके साथियों के साथ पेशेवर अपराधी जैसा व्यवहार किया गया है। दोनों को चेतावनी देकर छोड़ना चाहिए था। अगर फिर से दोनों गलती करे तब उन पर कार्रवाई होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here