लोकसभा उपचुनाव में भाजपा क्यों हारी, सीएम त्रिवेंद्र रावत ने किया खुलासा!

देहरादून- 
लोकसभा उपचुनाव में गोरखपुर जैसा गढ़ और फूलपुर संसदीय सीट को गवाने के साथ बिहार की अररिया संसदीय सीट पर हार का मुंह देखने के बाद जहां भाजपा में अंदरूनी बेचैनी का माहौल है, वहीं विपक्ष की खुशी छिपाए नहीं छुप रही।
प्रचंड बहुमत के दौर में गोरखपुर जैसे गढ़ के ढह जाने से विपक्ष को अपनी इस जीत से भविष्य का रास्ता दिखाई दे रहा है।
जबिक इधर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की माने तो लोकसभा उपचुनाव में भाजपा अपने अति अात्मविश्वास की वजह से हारी है। देहरादून में भाजपा प्रदेश मुख्यालय में मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि लोकतंत्र में जीत-हार चलती रहती है।
हालांकि उन्होंने इसे जहां पार्टी के अतिआत्मविश्वास का नतीजा बताया। वहीं उन्होंने  इसे विपक्ष की सिद्धांतों की तिलांजली और उनके दिलों में बैठे भाजपा के भय का नमूना भी करार दिया। सीएम रावत ने कहा कि जो सपा-बसपा आज तक कभी किसी मसले पर एक नहीं हुए। घर घर पहुंचे भाजपा के सिद्धांतों और पीएम नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता ने दोनों विपरीत छोरों को एक कर दिया।
हालांकि सीएम रावत ने कहा कि इन चुनावों के नतीजों का असर उत्तराखंड पर नहीं पड़ेगा। वहीं उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि उपचुनाव की हार से पार्टी सबक लेगी और इससे निबटने के लिए रणनीति बनाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here