अनिश्चितकाल क्यों, पार्टी से स्थाई निलंबन क्यों नहीं ?

देहरादून: भाजपा ने विवादित विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन को पार्टी से अनिश्चितकाल के लिए पार्टी से बाहर किया गया है, लेकिन उनको पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित नहीं किया गया। भाजपा ने फैसला भले ही ले लिया हो, लेकिन अब उनके इस फैसले पर और पार्टी की मंशा पर सवाल भी खड़े होने लगे हैं।

दअरसल, भाजपा के खानपुर से विधायक चैंपियन पहले कांग्रेस और भाजपा के लिए सिर दर्द बने हुए हैं। हाल ही में उनको एक वीडिया सामने आया है, जिसमें वो उत्तराखंड को गाली देते सुनाई दे रहे हैं। वो हाथ में एक-दो नहीं, बल्कि चार-चार असलहे एक साथ लहरा रहे हैं। भाजपा पर उनको निलंबित करने का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा था। भाजपा ने निर्णय तो लिया, लेकिन चैंपियन को अनिश्चितकाल के लिए बाहर नहीं किया।

पार्टी ने विधायक को अनिश्चितकाल के लिए निष्कासित किया, लेकिन फिर से स्थाई निलंबन से परहेज किया। भाजपा का तर्क है कि विधायक को नोटिस दिया गया है, जिसका जवाब उनको 10 दिनों के भीतर देना है, लेकिन सवाल यह खड़ा होता है कि जब वीडियो में सबकुछ साफ नजर आ रहा है तो उनसे सफाई किस बात पर मांगी जा रही है। टीवी चैपनों पर सार्वजनिक रूप से बयान भी दे चुके हैं। वो पहले से ही पार्टी से निलंबित चल रहे हैं। इसके चलते ही अब लोगों ने भाजपा से ही सवाल पूछने शुरू कर दिये हैं। भाजपा का निर्णय उन्हीं के लिए दिक्कतें खड़ी कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here