हरदा ने क्यों कहा, रावण का वध करने के लिए राम ने की थी शिव की पूजा

harish rawat

 

उत्तराखंड में सत्ता में बैठी भाजपा का संगठन अभी चुनावी अभियान की रणनीति बनाने के लिए बैठकें कर रही है तो वहीं विपक्ष में बैठी कांग्रेस ने अपने चुनावी अभियान का बिगुल भी फूंक दिया है।

देहरादून में कांग्रेस के चुनाव प्रचार कमेटी के सर्वेसर्वा हरीश रावत के ओल्ड मसूरी रोड स्थित आवास से इस अभियान की शुरुआत कांग्रेस के झंडारोहण के साथ की गई है।

भारी बारिश के बीच पहुंचे नेताओं और कार्यकर्ताओं को देख उत्साहित हरीश रावत ने ऐलान किया है कि इस बार राज्य में कांग्रेस की सत्ता में वापसी तय है। हरदा ने कहा है कि चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत अगस्त के महीने में करने की एक वजह ये है कि अगस्त क्रांतियों का महीना है। इसी महीन में भारत छोड़ो आंदोलन शुरु हुआ तो लम्गेड़ा में 25 अगस्त को क्रान्ति हुई थी, 1 सितम्बर को चुनोदा व 5 सितम्बर को खुमाड़ में क्रान्ति की शुरुवात हुई थी।

हरदा ने इस मौके पर कहा कि जब रावण का वध करना था तो राम ने शिव की पूजा की। महाभारत में कौरवों से युद्ध के लिए अर्जुन ने भी शिव की आराधना की थी। हरदा ने ऐलान किया है कि दो अगस्त को वो शिवालय में जाकर जल चढ़ाएंगे।

हरीश रावत ने मौजूदा बीजेपी सरकार पर आरोप लगाया है कि इस सरकार में समाज का हर वर्ग व्यथित है। साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में भाजपा ने प्रदेश की अर्थ व्यवस्था सहित सब कुछ धवस्त कर दिया है हर वर्ग का व्यक्ति दुखी है जनता त्राहीमाम त्राहीमाम कर रही है।

रखेंगे उपवास

वहीं हरीश रावत ने जागेश्वर मंदिर में पुजारियों के साथ बीजेपी सांसद के द्वारा किए गए दुर्व्यहार के खिलाफ एक घंटे तक उपवास की घोषणा भी की है। उन्होने कहा कि कल 2 अगस्त को वो भगवान शिव जल चड़ाकर उनकी अराधना करेंगे और 1 घण्टे का उपवास जागेश्वर मन्दिर में पुजारीयों के अपमान के विरोध में उपवास रखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here