विपक्ष क्यों कराना चाहता है गैरसैंण में सत्र, जानिए पूरी वजह


उत्तराखंड सरकार जल्द ही विधानसभा शीतकालीन सत्र कराने जा रही है। सत्र से पहले कल विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडुड़ी भूषण ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है। जिसमें विपक्ष भी शामिल होगा। ऐसे में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने साफ कहा है कि उनकी मांग है कि शीतकालीन सत्र गैरसेंण में ही आयोजित कराया जाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में गैरसैंण में टेंट में सत्र का आयोजन हो चुका है। कांग्रेस सरकार गैरसैंण में विधानसभा भवन भी बना चुकी है।

कांग्रेस हमेशा से गैरसैंण में विधानसभा के पक्ष में रही है, कांग्रेस की हमेशा मनसा रहेगी कि गैरसैंण में ही विधानसभा के सभी सत्र कराए जाएं। साथ ही नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि शीतकालीन सत्र के दौरान विपक्ष पूरे जोर शोर के साथ प्रदेश के ज्वलंत मुद्दे उठाएगा, जिस तरह से उत्तराखंड में बड़ा भर्ती घोटाला सामने आया है, सरकार ने अच्छा कदम उठाते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई तो की लेकिन ठोस परिणाम सामने नहीं आ रहा है। घोटाले में शामिल अधिकतर लोग जमानत से बाहर आ चुके हैं। इस पूरे मामले में अधिकारियों की पैरवी कमजोर रही है जिसके चलते घोटाले में शामिल लोग जेल से बाहर आ रहे हैं। इस घोटाले में कोई ठोस परिणाम नहीं आने से उन बेरोजगार युवाओं के सपनों का क्या होगा। बेरोजगार युवा सालों से भर्ती का इंतजार करते हैं और जब परिणाम आता है, तो पता चलता है कि भर्ती घोटाले की भेंट चढ़ गई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी, महंगाई चरम पर है लेकिन सरकार द्वारा इसको रोकने के लिए कोई बेहतर काम नहीं किया जा रहा है। सरकारी नौकरियों में महिलाओं को क्षैतिक आरक्षण लागू किया गया था लेकिन सरकार की हाईकोर्ट में लचर पैरवी किए जाने के चलते महिलाओं को मिलने वाला क्षैतिज आरक्षण भी खत्म हो गया है। उन्होंने कहा की कांग्रेस की मांग है कि महिलाओं को क्षैतिज आरक्षण मिलना चाहिए। इन सभी मांगों को लेकर इस बार विधानसभा सत्र में विपक्ष पुरजोर आवाज उठाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here