जिसे दफनाया, 5 दिन बाद जिंदा घर लौट आया, फिर वो कौन था ?

 

कानपुर : बिकरू कांड से लेकर विकास दुबे एनकाउंटर लेकर अब तक कानपुर पुलिस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एक और ऐसा मामला सामने आया है, जिसने कानपुर पुलिस के सामने फिर नई चुनौती कड़ी कर दी है। AC मैकेनिक के शव की शिनाख्त परिजनों ने की थी, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हुई थी। परिजनों ने शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया था। शुक्रवार देर रात एसी मैकेनिक अचानक घर लौटा, तो उसे देखकर परिजन हैरान रह गए। अब पुलिस के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द यह है कि कर्नलगंज में जिस युवक की हत्या कर शव फेंका गया था वो कौन है ?चकेरी थाना क्षेत्र के ओमपुरवा में रहने वाले अहमद हसन (40) बीते 2 अगस्त को घर से निकले थे। इस दौरान अहमद हसन अपना मोबाइल फोन भी घर पर छोड़ गए थे। अहमद जब घर नहीं लौटे तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की, काफी खोजबीन के बाद वो नहीं मिला तो परिजनों ने चकेरी थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

बीते बुधवार को कर्नलगंज इलाके में एक युवक का शव मिला था। पुलिस ने अहमद हसन के परिजनों को शव की शिनाख्त करने के लिए बुलाया था। परिजनों ने शव की शिनाख्त अहमद हसन के रूप में की थी। पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराया था और पोस्टमॉर्टम में हत्या की पुष्टि हुई थी। परिजनों ने शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया था।

 

पुलिस के मुताबिक अहमद हसन के परिजनों ने जिस शव को दफनाया है, उसकी शिनाख्त के लिए शव को क्रब से दोबारा बाहर निकाला जाएगा। शव की शिनाख्त के दोबारा प्रयास किए जाएंगे, और उसका डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा। उसकी हत्या कैसे हुई, किसने की और मृतक कौन था, कहां का रहने वाला था। ऐसे कई सवाल पुलिस के सामने हैं। बीते शुक्रवार देर रात लौटे एसी मैकेनिक ने पुलिस को बताया कि वह एक रिश्तेदार के घर शहर के बाहर गया था। फिलहाल पुलिस मैकेनिक की सीडीआर निकलवा कर घटना की जांच करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here