उत्तराखंड को जहां मेरी जरूरत होगी चट्टान की तरह साथ खड़ा रहूंगा : निशंक

देहरादून : उत्तराखंड उच्च शिक्षा में गुणवत्ता उन्नयन नवाचार पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने किया. आपको बता दें कि ये संगोष्ठी कार्यक्रम आज और कल दून विश्वविद्यालय में आयोजित किया जा रहा है जिसमें उच्च शिक्षा की गुणवत्ता पर चर्चा की जाएगी साथ ही नई शिक्षा नीति पर भी इसमे चर्चा की जाएगी. कल दून विश्वविद्यालय में होने वाले इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी शिरकत करेंगे.

उत्तराखंड शिक्षा का हब है और उत्तराखंड संजीवन बूटियों का भंडार है-केंद्रीय मंत्री

उत्तराखंड उच्च शिक्षा में गुणवत्ता उन्नयन नवाचार संगोष्ठी में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने अपने उद्धबोधन में कहा कि उत्तराखंड शिक्षा का हब है और उत्तराखंड संजीवन बूटियों का भंडार है. कहा कि श्रीलंका में जब मैंने स्वस्थ्य मंत्री के नाते उत्तराखंड में संजीवनी बूटी होने की बात कही तब देश दुनिया में मेरे बयान की खूब चर्चा हुई. रमेश पोखरियाल ने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी ने भी मुझसे सवाल किया की क्या उत्तराखंड में संजीवनी बूटी है तो मैंने भी उन्हें यही जवाब दिया कि उत्तराखंड में संजीवनी बूटी है.

चट्टान की तरह उत्तराखंड के साथ खड़ा रहूंगा-निशंक

केंद्रीय मंत्री निशंक पोखरियाल ने कहा कि संजीवनी के जरिये मानवता को बचाने का काम किया जा सकता है और नई शिक्षा नीति नए भारत की आधारशिला बनेगी. शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा विमर्श नई शिक्षा के लिए हुआ है और 33 साल बाद नई शिक्षा नीति आ रही है जिसमे शिक्षकों को भी नई शिक्षा नीति के तहत प्रशिक्षण दिया जाएगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड विश्व की धरोहर है शिक्षा का केंद्र है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को जहां पर मेरी जरूरत होगी चट्टान के साथ उत्तराखंड के लिए खड़ा रहूंगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here