पहाड़ों पर होगी बर्फबारी तो मैदानों में और बढ़ेगी ठंड

snowfall
फाइल

उत्तर भारत के इलाकों में मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है। लेकिन  पहाड़ों पर बर्फबारी की चेतावनी के कारण सर्दी और बढ़ने वाली है। मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में मौसम शुष्क और ठंडा है और अगले 24 घंटों के दौरान ऊंचे इलाकों में बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश होने के आसार हैं। मौसम विज्ञान विभाग के एक कार्यालय ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अगले 24 घंटों के दौरान मैदानी इलाकों में हल्की बारिश और ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने की संभावना है।

बर्फबारी के बीच कश्मीर घाटी में तापमान में और गिरावट आई है। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 1 डिग्री सेल्सियसम, पहलगाम में 0.7 और गुलमर्ग में माइनस 3 डिग्री सेल्सियस रहा। लद्दाख क्षेत्र के द्रास में न्यूनतम तापमान माइनस 3.6, कारगिल में माइनस 5.6 और लेह में माइनस 4.8 रहा।

जम्मू में 12.7, कटरा में 11, बटोटे में 4.4, बनिहाल में 4.8 और भद्रवाह में 4.5 न्यूनतम तापमान रहा।

दक्षिण के राज्यों में ‘मैंडूस’ चक्रवात का कहर

जहां पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी का अलर्ट है, वहीं दूसरी ओर दक्षिण भारत में भी बारिश हो रही है। लेकिन बारिश की वजह चक्रवात है। साइक्लोन ‘मैंडूस’ के कहर से दक्षिण भारत के कई इलाकें प्रभावित होने की चेतावनी है। चक्रवात के खतरनाक होने के साथ ही कई शहरों में स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। चक्रवात के कहर के बीच कई राज्यों में आम जनजीवन प्रभावित हो गया है। तमिलनाडु सरकार ने कहा कि एनडीआरएफ और राज्य सुरक्षा बल की 12 टीमों को 10 जिलों में तैनात किया गया है।

ये तूफान आज चेन्नई तट से टकराया है। इससे तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 48 घंटों में यह तूफान खतरनाक रूप ले सकता है। इस कारण प्रभावित शहरों में स्कूल कॉलेज बंद रखे गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here