उत्तराखंड के युवक की गाजियाबाद में हत्या, प्रेमी जोड़े को गोलियों से भूना

पिथौरागढ़ : सोमवार को गाजियाबाद जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र में हुए गोलीकांड में प्रेमी जोड़े की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. जिसमे मृतक अन्नू चौहान का मूल गांव नेपाल सीमा से लगे ध्यांण गांव(पिथौरागढ़) का था। उनके पिता ने कई राज खोले हैं.

मिली जानकारी के अनुसार अन्नू चौहान के पिता खुशाल सिंह 1971 में गांव छोड़कर ऋषिकेश में बस गए थे। वर्तमान में वह यमकेश्वर तहसील के मोहन चट्टी में रह रहे थे जो की मुर्गी फार्म चलाते थे। अन्नू के पिता खुशाल सिंह ने बताया कि उनके गांव में पानी नहीं था। इस समस्या के चलते वहां रहने वाले छह परिवारों ने गांव छोड़ दिया था। अब सभी मकान खंडहर हो चुके हैं। पांच साल पहले उनका परिवार ध्यांण गांव आया था।

सेना से सेवानिवृत्त खुशाल सिंह ने बताया कि उनकी चार बेटियों की शादी हो चुकी है। छोटा बेटा सुधीर हरिद्वार शांतिकुंज में कंप्यूटर की दुकान चलाता है। खुशाल सिंह ने कहा कि जब तक बेटे के कातिलों को सजा नहीं दिलाएंगे वह चैन से नहीं बैठेंगे।

बता दें गाजियाबाद जिले की कोतवाली थाने क्षेत्र में सोमवार सुबह गाजियाबाद जिले में प्रेमी-युगल की दिनदहाड़े साईं मंदिर में गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी.जानकारी के अनुसार, प्रेमी युगल साईं उपवन के पास स्थित साईं मंदिर में साढ़े सात बजे दर्शन करने गए थे। दर्शन कर वापस लौटते समय अज्ञात शख्स ने मंदिर परिसर में ही उन्हें गोलियों से भून दिया। आरोपी घटना स्थल से फरार हो गया। मंदिर में मौजूद पुजारी व अन्य लोगों ने गोलियों की आवाज सुनकर बाहर आकर देखा तो दोनों जमीन पर लहूलुहान हालत में पड़े थे। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here