उत्तराखंड : नौकरी के लिए 25 किलोमीटर दौड़ा युवक, पूरी करने के बाद हो गई मौत

देहरादून: वन आरक्षी के पदों पर लिखित भर्ती परीक्षा के बाद शारीरिक भर्ती परीक्षा में 25 किमी दौड़ पूरी करने के बाद एक युवक की मौत हो गई। मृतक चमोली जिले के गोपेश्वर का रहने वाला था। उसकी दून अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हुई। शारीरिक दक्षता परीक्षा के तहत सूरज प्रकाश पुत्र मसंतु लाल, निवासी गोपेश्वर, चमोली ने दौड़ पूरी की। इसके बाद उसका स्वास्थ्य खराब हो गया।

युवक को एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि शारीरिक दक्षता परीक्षा में पुरुषों को चार घण्टे में 25 किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी थी। वहीं, महिला वर्ग के लिए चार घंटे में 14 किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी थी। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव संतोष बड़ौनी ने बताया कि सूरज ने 25 किमी दौड़ पूरी कर ली थी।

लिखित परीक्षा के बाद 2,326 उम्मीदवारों का चयन फिजिकल टेस्ट के लिए हुआ था। इसके लिए देहरादून और हल्द्वानी में केंद्र बनाए गए हैं। जिनमंे से पहला चरण आज पूरा हो गया है। पहले चरण में कुल 1,539 उम्मीदवार पंजीकृत थे, जिनमें से 1,332 उम्मीदवारों ने शारीरिक दक्षता परीक्षा में हिस्सा लिया। इसमे से 98 प्रतिशत पुरुष और शत-प्रतिशत महिलाओं ने अपनी दौड़ पूरी की।

पुरुषों में पूर्व सैनिक उम्मेद सिंह सबसे तेज दौड़े, उन्होंने 25 किमी की दौड़ महज दो घंटा 13 मिनट में पूरी कर ली। 39 वर्षीय उम्मेद ग्राम चंदी, जखेली रुद्रप्रयाग निवासी हैं। महिला श्रेणी में रुड़की निवासी उमा रानी सबसे तेज दौड़ी। उन्होंने 14 किलोमीटर की दौड़ महज दो घंटा तीन मिनट में पूरी की।

पहली बार अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने डिजिटल मशीनों का इस्तेमाल किया है। सीना व ऊंचाई के लिए डिजिटल मशीनों का इस्तेमाल किया गया। दौड़ मापन के लिए भी डिजिटल मैट व डिजिटल मशीन का उपयोग किया गया। पूरा परीक्षण सीसीटीवी की निगरानी में हुआ।

अब दूसरा चरण हल्द्वानी में होगा। हल्द्वानी में 787 उम्मीदवार पंजीकृत हैं। वहीं हल्द्वानी में होने वाली शारीरिक दक्षता परीक्षा की तारीख में बदलाव हुआ है। पहले दो व तीन अगस्त को हल्द्वानी में यह परीक्षा होनी थी, लेकिन अब तीन व चार अगस्त को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here