उत्तराखंड : आपको गर्म एसी-रजाई में भी ठंड लगती है, कभी इनके बारे में सोचिएगा…

उत्तरकाशी : चमोली, उत्तरकाशी समेत पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बर्फबारी के कारण जिंदगी ठहर सी गई। उत्तरकाशी में बुधवार देर रात तक जमकर बर्फबारी हुई। बर्फबारी के कारण जनपद के 500 से अधिक गांवों में बुधवार शाम से बिजली गुल है, जबकि 150 से अधिक गांव बर्फबारी से पूरी तरह ढ़के गए। लोग रजाई के अंगर अपने को ठंड से बचा रहे हैं। लेकिन इस दौरान कई लोग ऐसे हैं जो लोगों को मुसीबतों से निकालने के लिए जी जान लगा रहे हैं. जी हां हम बात कर रहे हैं पुलिस, आईटीबीपी के जवानों की जो कि बर्फबारी का लुत्फ उठाने आए लोगों को मुसीबतों से निकालने का काम कर रहे हैं और बिजली विभाग के कर्मचारी गांव को रोशन करने की जद्दोजहद में हैं ताकि लोगों के घर रोशन हो सके। लाइनमैन को भेजकर जगह जगह टूटी हुई विद्युत तारों को जोड़ने के लिए काम जारी है ताकि कल से ठप हुई विद्युत आपूर्ति बहाल हो सके।

बिजली विभाग के कर्मचारी औऱ जेसीबी चालक मोर्चा संभाले

जी हां भारी बर्फबारी के बीच बिजली विभाग के कर्मचारी औऱ जेसीबी चालक मोर्चा संभाले हैं. एक ओर जहां लोग बर्फबारी के मौसम में गर्मागर्म चाय का लुत्फ उठा रहे हैं औऱ रजाई में अपने को ठंड से बचाए हुए हैं तो ऐसे में गांवों को लोगों को अंधेरे से आजादी दिलाने के लिए बिजली विभाग के कर्मचारी अपने कर्तव्य का पालन करते हुए भारी बर्फबारी के बीच अपनी ड्यूटी करने निकले हैं।

हमें गर्म एसी में भी ठंड लगी है लेकिन कभी इनके बारे में सोचिएगा

वहीं एक तस्वीर उत्तरकाशी जिले से सामने आई है। ये तस्वीर बहुत कुछ बयां कर रही है और एक ही बात दिल में आ रही है कि हमें रजाई औऱ मोटे कपड़ों में भी ठंड लग रही है, हमें गर्म एसी में भी ठंड लगी है लेकिन कभी इनके बारे में सोचिएगा कि क्या इनको ठंड नहीं लगती. ठंड में बर्फबारी के बीच जान जोखिम में डालकर पोल पर चढ़े युवक का जज्बा तो देखिए…हम तो ये तस्वीर देखकर यही सोच रहे हैं कि साहब क्या इन्हें ठंड नहीं लगती. भारी बर्फबारी के बीच, कंपकपा देने वाली ठंड के बीच बिजली कर्मचारी बिजली के पोल पर चढ़ा हुआ है औऱ बिजली ठीक कर रहा है ताकि बर्फबारी की चपेट में आए गांवों को बिजली मिल सके। हम ऐसे कर्मचारियों के जज़्बे को सलाम करते हैं और उन्हें सावधानी की अपील करते हैं।

गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे समेत कई मार्ग बंद,पानी का इंतजाम बर्फ को पिघलाकर

बता दें कि बर्फबारी के कारण गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे की तो वो आज भी बंद हैं.धरासू यमुनोत्री हाईवे सिल्क्यारा से लेकर ओरछा बैंड तक बंद है। यमुनोत्री हाईवे स्यानाचट्टी से आगे लेकर जानकी चट्टी तक बंद है। जबकि उत्तरकाशी-लंबगांवमोटर मार्ग पर मानपुर से लेकर धौंतरी तक बंद है।वहीं यमुना घाटी की गीठ पट्टी, पुरोला ब्लाक के सर बडियार पट्टी, डुंडा ब्लाक के गाजणा पट्टी, भटवाड़ी ब्लाक के केलसू, टकनौर व उपला टकनौर पट्टी और मोरी ब्लाक के पर्वत और बंगाड़ क्षेत्र के सभी गांवों का संपर्क ब्लाक व तहसील मुख्यालयों से कटा हुआ है। चिन्यालीसौड़ से नैनबाग तथा चिन्यालीसौड़ से देहरादून जोड़ने वाला मार्ग भी बंद है। गंगोत्री हाईवे मनेरी से लेकर गंगोत्री तक बंद है। इसी के साथ 50 से अधिक मोटर मार्ग बंद हैं, जिससे 200 से अधिक गांवों का मुख्यालय से संपर्क कट गया है। अधिकांश ऊंचाई वाले गांवों में पानी का भी संकट हो गया है। पानी का इंतजाम बर्फ को पिघलाकर करना पड़ रहा है।

आगे भी मौसम विभाग ने 10-11-12 को बारिश और कोहरे की चेतावनी जारी की है. आप सब से निवेदन है कि ऐसे में आप सभी सावधानी बरतें और बर्फ प्रभावित जगहों पर फिलहाल जाने से बचें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here