उत्तराखंड : दूसरी से कर रहा था निकाह, पहुंच गई पहली, बिन दुल्हन के लौटी बारात

काशीपुर: काशीपुर में यूपी के मुराबाद से एक बारात पहुंची थी। यहां  की रश्में होने ही वाली थी कि अचानक दूल्हे के पहली पत्नी भी वहां पहुंच गई और उसने हंगामा काटना शुरू कर दिया। मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची, पूरा मामला समझा और बाराता को लौटा दिया, लेकिन पुलिस ने जो तर्क दिए हैं, वो कुछ और ही कहानी कह रहे हैं।

मामला मंगलवार का है मुरादाबाद से आई एक बारात के दौरान निकाह की रस्मों की तैयारी में उस वक्त रंग में भंग पड़ गया जब चल रही शादी की तैयारियों के बीच एक महिला ने स्वयं को दूल्हे की पहली पत्नी होने का दावा करते हुए हंगामा काटा। मामले की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई और दूल्हे समेत कुछ लोगों को कटोराताल पुलिस चैकी में ले आई।

हालांकि पुलिस ने कोविड नियमों के उल्लंघन का मामला बताते हुए बारात को वापस लौटा दिया, लेकिन पुलिस के मुताबिक दूल्हे की दूसरी शादी के मामले में उत्तर प्रदेश का मामला बताते हुए पूर्व विवाहिता से वहीं कार्यवाही किये जाने की बात कही है। पुलिस का यह भी कहना है कि मामला यूपी के जिला मुरादाबाद का है और दूल्हे की पत्नी होने का दावा करने वाली महिला पत्नी होने का कोई सबूत नहीं दे पाई है।

फिलहाल पुलिस ने कोविड ई-पास व आरटीपीसीआर रिपोर्ट का हवाला देते हुए निकाह कराये बगैर दूल्हे समेत बारात को वापस भेज दिया है। उत्तर प्रदेश के जिला मुरादाबाद के सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के ग्राम काजीपुरा निवासी समिद मलिक एड. पुत्र अब्दुल हमीद मंगलवार सुबह बारात लेकर जसपुर खुर्द कचहरी निवासी एक व्यक्ति के घर पहुंचे। निकाह की रस्मों के लिए मोहल्ला काजीबाग स्थित एक मदरसे में इंतजाम किया गया था।

महिला ने बताया कि कि आठ साल पहले वर्ष 2014 में उसका निकाह इस दूल्हे के साथ हो चुका है और अब वह उसे बताये बगैर दूसरी शादी करने आ गया है, लेकिन दूल्हे पक्ष के मुताबिक महिला से बीते 23 जून को आपसी सहमति के चलते तलाक दिया जा चुका है। दूल्हे पक्ष ने मौके पर नोटरी किये कुछ कागजातों की छायाप्रति भी दिखाई। दूल्हा समीद मलिक ने उक्त महिला पर 50 हजार रुपये में मामला निपटने की बात कहते हुए उक्त महिला के द्वारा 5 लाख रुपये की डिमांड करने की बात कही।

एसएसआई देवेंद्र गौरव ने बताया कि बारात को इस वजह से वापस लौटाया गया है इन लोगों ने कोविड नियमों का उल्लंघन कर उत्तराखंड में प्रवेश किया है। किसी के पास भी आरटीपीसीआर रिपोर्ट व ई-पास नहीं है। पुलिस का यह भी कहना है कि दूल्हे की पत्नी होने का दावा करने वाली महिला इस बात का कोई सबूत नहीं दे पाई और यह मामला यूपी के संभल मुरादाबाद क्षेत्र का है। दूल्हे पक्ष की ओर से कुछ एफिडेविट पेश किये गये हैं जिसमें तलाक की प्रक्रिया के बारे में बताया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here