उत्तराखंड : इस मास्क के बिना नहीं लगेगी वैक्सीन, जारी किये गए निर्देश

ऋषिकेश : Covid टीकाकरण के लिए एम्स आने वाले लोगों के लिए अब N-95 अथवा डबल मास्क पहनकर आना अनिवार्य होगा। Covid-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर AIIMS प्रशासन ने 1 मई शनिवार से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण के लिए विशेष गाइडलाइन जारी की है। AIIMS के टीकाकरण केंद्र में उन्हीं लोगों को प्रवेश की अनुमति होगी जिन्होंने एन-95 अथवा डबल मास्क पहना हो।

देशभर में Corona टीकाकरण का तीसरा चरण 1 मई से शुरू होने जा रहा है। इस चरण में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई जाएगी। एम्स ने covid-19 के बढ़ते खतरों के मद्देनजर इस बाबत विशेषरूप से गाइडलाइन जारी की हैं। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी ने बताया कि टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के साथ-साथ कोविड संक्रमण को रोकने के लिए विशेष सावधानी बरती जानी जरुरी है। मौजूदा समय को देखते हुए यह जरुरी है कि टीकाकरण के लिए एम्स आने वाले लोग कोविड गाइडलाइन का गंभीरता से पालन सुनिश्चित करें।

AIIMS निदेशक प्रो. रवि कांत ने कहा कि देश में कोविड संक्रमण खतरनाक गति से बढ़ रहा है। ऐसे में corona वायरस से सुरक्षित रहने के लिए प्रत्येक व्यक्ति के लिए सुरक्षा के मद्देनजर डबल मास्क पहनना जरुरी हो गया है। लिहाजा टीकाकरण के लिए एम्स परिसर में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को भी इन नियमों का पालन करना होगा। निदेशक प्रो. रवि कांत जी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी उपाय अपनाए जाने की आवश्यकता है। टीकाकरण केंद्र में किसी भी प्रकार की समस्या के निराकरण के लिए समुचित प्रबंध किए गए हैं।

देशभर में कोविड टीकाकरण का वृहद अभियान 16 जनवरी से शुरू हुआ था। पहले चरण में 60 साल से अधिक उम्र जबकि दूसरे चरण में 45 साल से अधिक उम्र के नागरिकों का टीकाकरण किया गया। अब 1 मई से शुरू होने जा रहे तीसरे चरण में 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई जानी है।

CFM विभागाध्यक्ष प्रोफेसर वर्तिका सक्सैना जी ने बताया कि 1 मई से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि टीकाकरण केंद्र में को-वैक्सीन और कोविशील्ड दोनों टीके पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। संक्रमण को देखते हुए शुरुआती चरण में सीमित संख्या में ही टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि टीकाकरण का समय सुबह 9 बजे से सांय 4 बजे तक निर्धारित किया गया है। वैक्सीन की खुराक खराब नहीं हो, इसके लिए टीकाकरण केंद्र पर योजनाबद्ध तरीके से कार्य किया जा रहा है। कहा कि टीका लगवाने हेतु केंद्र पर टीकाकरण के लिए आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को डबल मास्क पहनकर आना अनिवार्य है। टीका लगने के बाद प्रत्येक व्यक्ति को 30 मिनट तक चिकित्सकीय निगरानी में रखा जाएगा।

टीकाकरण केंद्र के प्रभारी व सीएफएम विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा. महेन्द्र सिंह जी ने बताया कि अब तक 14 हजार से अधिक लोगों को कोविड टीके लगाए जा चुके हैं। इनमें 45 वर्ष से अधिक उम्र के 6 हजार से अधिक लोग शामिल हैं। केंद्र में प्रतिदिन 300 से 500 लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। उन्होंने बताया कि अभी तक 3500 से अधिक हेल्थ केयर वर्करों को कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। डाॅ. महेन्द्र ने बताया कि पहली मई से शुरू होने जा रहे तीसरे चरण के अभियान की सफलता के लिए केंद्र में पर्याप्त स्टाफ तैनात किया गया है।

18 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोविड वैक्सीन लगाने हेतु ऑनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य है। प्रो. वर्तिका सक्सैना जी ने बताया कि इसके लिए इच्छुक व्यक्ति “कोविन एप” अथवा “आरोग्य सेतु” एप के माध्यम से अपना पंजीकरण करा सकते हैं। इसके अलावा www.cowin.gov.in/home पोर्टल पर भी रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध है। ऑनलाइन पंजीकरण की यह सुविधा 28 अप्रैल बुधवार से शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि अनावश्यक परेशानी से बचने के लिए लोगों को सलाह दी जाती है कि वह टीकाकरण केंद्र में पहुंचने से पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर टीका लगाने हेतु दिन और समय सुनिश्चित कर लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here