उत्तराखंड : खुद को CID अफसर बताकर लोगों को चूना लगाते थे पति-पत्नी, गिरफ्तार

हरिद्वार : उत्तराखंड में अभी तक कई ठगी के मामले सामने आ चुके हैं जिसमें लोगों से लाखों रुपये की ठगी सरकारी नौकरी दिलाने और भर्ती कराने के नाम पर ठगी गई है. वहीं इसके तहत उत्तराखंड की तीर्थनगरी हरिद्वार में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें पुलिस ने पति-पत्नी को गिरफ्तार किया है.

दरअसल पति-पत्नी खुद को सीआईडी अफसर बताकर ठगी को अंजाम देते थे. शातिर ठग पति-पत्नी लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर पैंसे एंठते थे. इस दंपत्ति ने एक युवक को नौकरी दिलाने के नाम पर उससे 30 हजार रुपये ठगे जिसको पुलिस ने गिरफ्तार किया.

खुद को बताया सीआईडी अफसर, ऐसी की ठगी

पुलिस के मुताबित नगर के मोहल्ला पठानपुरा निवासी कलीम पुत्र शराफत के घर कुछ दिन पहले एक महिला और आदमी आया था जिसमें महिला ने खुद को सीआईडी अफसर बताया और अपने पति को अपना जूनियर बताते हुए साथ लाई. कलीम से उसके छोटे भाई अलीम की सीआईडी एजेंट के तौर पर नौकरी लगवाने का झांसा दिया. इसके बाद दोनों आरोपियों ने सहारनपुर ले जाकर अलीम से दौड़ लगावाई और उसे सीआईडी का फर्जी पहचान पत्र भी थमा दिया। और साथ ही मेडिकल टेस्ट और अन्य कामों के लिए 30 हजार रुपये भी लिए। बाद में पहचान पत्र की जांच कराई तो वह फर्जी निकला। इस पर कलीम ने दोनों आरोपियों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया।

बिना सत्यापन के किराए के कमरे में रह रहे थे आरोपी

वहीं पुलिस ने दोनों आरोपी पति-पत्नी को सुल्तानपुर निवासी हाल निवासी लालबड़ा नवाब और उसकी पत्नी नईमा बानो को गिरफ्तार किया है।  पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दोनों पति-पत्नी हैं जिनके पास से कई फर्जी आईडी मुहर और पुलिस की वर्दी बरामद हुई है। उनका कहना है कि बिना सत्यापन कराएं मकान किराए पर देने वाले मकान मालिक के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here