उत्तराखंड : स्कूल की चहारदीवारी के साथ ढहकर 60 फीट खाई में गिरी दो बच्चियां

पिथौरागढ़ : एक तरफ केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की त्रिवेंद्र सरकार सब पढ़ें सब बढ़ें के दावे करती है साथ ही पढ़ेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगी इंडिया का नारा हर मंच हर कार्यक्रमों में लगाती है लेकिन इसकी पोल उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में खुलती दिखी.

जी हां मिली जानकारी के अनुसार पिथौरागढ़ के एक राजकीय प्राथमिक विद्यालय की चहारदीवारी ढह गई और हादसे में वहां खेल रहीं दो बच्चियां चहारदीवारी के साथ ही 60 फीट खाई में गिर गईं। हादसे में दोनों बुरी तरह से चोटिल हो गईं। दोनों को प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

स्कूल के मैदान में खेल रहीं थीं दो बच्चियां

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को तहसील मुख्यालय से 50 किमी दूर बुंगबुंग दो बच्चियां अन्य बच्चों के साथ सुबह करीब 11 बजे स्कूल के मैदान में खेल रहीं थीं। इसी दौरान स्कूल की चहारदीवारी ढह गई। चहारदीवारी के साथ बच्चियां भी करीब 60 फीट खाई में जा गिरीं। लोगों ने दोनों बच्चियों को खाई से निकाला और उनका घरेलू उपचार किया.

शुक्रवार को दोनों बच्चियों को परिजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धारचूला लेकर आए। यहां प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को बेहतर इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। डॉ. फुरकान ने बताया कि दोनों बच्चियों के सिर, आंख और पैर में चोट लगी है। घायल छात्रा बबीता जूनियर हाईस्कूल में 8वीं में पढ़ती है। यक्षिता आंगनबाड़ी केंद्र में पढ़ती है।

मिली जानकारी के अनुसार जून 2018 में बरसात से स्कूल की चहारदीवारी क्षतिग्रस्त हो गई थी। कई बार मरम्मत की मांग करने के बाद भी निर्माण नहीं कराया गया. जिसका खामियाज आज बच्चियों को भुगतना पड़ा। ग्राम प्रधान गीता देवी और पूर्व प्रधान राजेंद्र नबियाल ने उपजिलाधिकारी को पत्र देकर दोनों बच्चियों के इलाज में मदद की गुहार भी लगाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here