उत्तराखंड : दो वर्तमान सांसदों का कटा टिकट, दो नए चेहरों को मिला मौका…पढ़िए जीवनी

देहरादून : भाजपा ने होली के दिन अपने 184 उम्मीदवारोंके नामों की घोषणा कर दी है, जिसमें उत्तराखंड के पांचों लोकसभा सीटों के उम्मीदवारों के भी नाम की घोषणा भाजपा ने की जिससे लोगों सहित पार्टियों का इंतजार खत्म हुआ.

दो का कटा टिकट, दो नए चेहरों को मिला मौका

बता दें भाजपा ने नैनीताल से वर्तमान सांसद भगत सिंह कोश्यारी और पौड़ी से वर्तमान सांसद भुवन चंद खंडूरी का टिकट काटकर नए चेहरों को मौका दिया गया है. आपको बता दें कि खंडूरी और भगत सिंह कोशियारी पहले ही चुनाव ना लड़ने को लेकर मना कर चुके हैं थे जिसके बाद भाजपा आलाकमान ने समीकरणों को देखते हुए टिकटों का बंटवारा किया। खासकर उन सीटों पर पहले विचार हुआ जहां पहले चरण में ही 11 अप्रैल को मतदान होना है.

इन-इन को बनाया गया प्रत्याशी

आपको बता दें हरिद्वार सीट से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक, टिहरी से माला राज्यलक्ष्मी शाह और अल्मोड़ा से अजय टम्टा को ही प्रत्याशी बनाया गया है. तीनों ही वर्तमान में इन सीटों से सांसद हैं। वहीं पौड़ी सीट पर राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत और नैनीताल सीट पर प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को प्रत्याशी बनाया गया है।

वर्तमान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका निभा रहे हैं अजय भट्ट

बता दें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नैनीताल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे. भाजपा ने नए चेहरे के रुप में अजय भट्ट को नैनीताल से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है जो की वर्तमान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की भूमिका निभा रहे हैं. पढ़िए उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ अहम जानकारियों के बारे में..

नाम – अजय भट्ट

पिता का नाम – स्व. कमलापति भट्ट

माता का नाम – स्व. तुलसी देवी भट्ट

जन्म तिथि – 01-05-1961 शिक्षा  – एलएलबी

पता 

784, गांधी चौक रानीखेत जिला अल्मोड़ा।

वैवाहिक स्थिति – विवाहित

पत्नी – पुष्पा भट्ट, व्यवसाय वकालत

परिवार

तीन पुत्रियां व एक पुत्र। क्रमश : मेघा भट्ट बीटेक व एमबीए (विवाहित), स्नेहा भट्ट बीटेक व एमबीए, सुनीता भट्ट वकालत पूर्ण व पुत्र दिग्विजय भट्ट एलएलबी में अध्ययनरत।

विदेश यात्राएं

कनाडा, आस्ट्रेलिया व इंग्लैंड

पार्टी से जुड़ाव 

विद्यार्थी जीवन में विद्यार्थी परिषद से जुड़ाव एवं 1980 से सक्रिय सदस्य व पूर्व में पूरा परिवार जनसंघ में समर्पित।

जेल यात्राएं 

डॉ. मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में उत्तरांचल राज्य प्रगति के लिए अल्मोड़ा में गिरफ्तारी, अयोध्या मंदिर निर्माण के लिए दो बार गिरफ्तारी 18-10-1990 व 26-10-1990 में, 08-12-1990 को मुलायम सिंह के अयोध्या कांड के बाद प्रथम बार सार्वजनिक तौर पर रानीखेत आगमन पर प्रबल विरोध में गिरफ्तारी एवं मुकदमा कायम।

राजनीतिक जीवन

31 दिसंबर 2015 से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

19-05-2012 से 15 मार्च 2017 तक नेता प्रतिपक्ष

2001 में अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री का दायित्व

1996 से 2000 तक विधायक रानीखेत, 2002 से 2007 तक पुन: विधायक रानीखेत

मंत्री विधान मंडल दल 2002 से 2007 तक

28-10-2009 से 25-12-2011 तक उत्तराखंड सरकार में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद के अध्यक्ष है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here