उत्तराखंड : चाइनीज़ मांझे बेचने वालों की अब खैर नहीं, वाट्सऐप से लगेगी क्लास

हरिद्वार : चाइनीज़ मांझे बेचने वालो की अब खैर नहीं सिटी मजिस्ट्रेट उठायंगे सख्त कदम जी हाँ ,हरिद्वार में चाइनीज़ मांजे को लेकर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया गया। राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं अपराध मुक्त भारत संस्था ने चाइनीज मांझे की ब्रिकी पर रोक लगाने की मांग को लेकर जटवाड़ा पुल पर विरोध प्रदर्शन किया। चाइनीज़ मांझे पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल को ज्ञापन सौंपा।

बता दें कि मकर संक्राति पर्व से पहले ही लोग पतंग उड़ने लगते हैं और 14-15 जनवरी के दिन तो पूरा आसमान रंगबिरंगे पतंगों से सज ज्यादा है। गुजरात, जयपुर समेत हरिद्वार में भी पतंग उड़ाई जाती है। यहां पर लोग पतंगबाजी के लिए छत किराए पर लेते हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों से प्रदेश में चाइनीझ मांझे की बिक्री बढ़ गई है। चाइनीज माझें से काफी नुकसान होता है। यहां मांझा प्लास्टिक से बना होता है और टूटता नहीं है। जिसके कारण यह मानव व पशु-पक्षियों के लिए घातक है।

हरिद्वार में भी चाइनीझ मांझे के कारण हर साल कई लोग घायल होते हैं।सिटी मजिस्ट्रेट ने भी जनहित के इस मुद्दे को गंभीर रूप से लिया साथ ही कहा की चाइनीज़ मांझे की बिक्री पर पिछले वर्ष भी रोक लगाई थी और इस बार भी आखिरी बार दुकानदारों को चेतावनी दी जा रही है। इसके साथ साथ बच्चे और उनके माता पिता भी इस चाइनीज़ माँजे का विरोध करें। इसके लिए जल्द एक वाट्सऐप नंबर जारी किया जायगा जिसमे सीधे शिकायत की जा सकेगी और तुरन्त कार्यवाही भी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here