उत्तराखंड : इस बार अकेला जलेगा रावण, वो भी बस इतने फीट का

 

देहरादून : देहरादून के परेड़ ग्राउंड का दशहरा मेला राज्य का सबसे बड़ा दशहरा मेला और रावण दहन माना जाता है। इसे देखने के लिए परेड़ ग्राउंड में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा होगी है। इतनी भीड़ कि परेड़ ग्राउंड में जगह ही नहीं मिल पाती थी। वाहनों की लंगी कतारें लग जाती थी। यहां जक की दशहरे वाले दिन अलग से ट्रैफिक प्लान बनाना पड़ता था। लेकिन, इस बार लोगों को पहले जैसा नजारा नजर नहीं आएगा।

परेड ग्राउंड में होने वाला ऐतिहासिक रावण दहन कार्यक्रम इस बार रेसकोर्स स्थित बन्नू स्कूल में होगा। इस बार रावण की ऊंचाई घटाकर 10 फीट कर दी गई है। रावण के साथ मेघनाथ और कुंभकर्ण के पुतलों का दहन नहीं होगा। दशहरा कमेटी बन्नू बिरादरी समिति के अध्यक्ष संतोष नागपाल ने बताया कि पहले रावण की ऊंचाई 15 से 17 फीट तय की गई थी। अब इसे घटा दिया है।

मेघनाथ और कुंभकर्ण का पुतला नहीं बनाया गया है। दर्शकों को भी स्कूल ग्राउंड में नहीं आने दिया जाएगा। रावण दहन कार्यक्रम को सोशल मीडिया के माध्यम से लाइव दिखाया जाएगा। बन्नू स्कूल में खड़े होने वाले रावण के पुतले के हाथ में सैनिटाइजर की बोतल होगी। रावण लोगों को कोरोना से बचाने का संदेश देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here