उत्तराखंड : इस शख्स ने पेश की मिसाल, प्लाज्मा डोनेट करने 180 किलोमीटर दूर से आया

हल्द्वानी : कोरोनाकाल में कई लोगों की जानें जा चुकी हैं। देशभर में प्लाजमा थेरेपी की जा रही है। अब तक इस थेरेपी से कई लोगों की जानें बचाई जा चुकी हैं। उत्तराखंड में भी प्लाज्मा थेरेपी डोनेट की जा रही है। अल्मोड़ा तहसीलदार के चालक तक एक महिला की गुहार पहुंची। महिला के पति की हालत कोरोना से काफी बिगड़ गई थी। महिला ने अपना सुहाग बचाने की गुहार लगाई थी।

तहसीलदार अल्मोड़ा के चालक प्रकाश पुरी गोस्वामी को 26 जुलाई को कोरोना हुआ था। उन्होंने आठ अगस्त को कोरोना को मात दी। इनका ब्लड ग्रुप एबी पॉजिटिव है। हल्द्वानी निवासी एक व्यक्ति और उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव हैं। घर में दो छोटे बच्चे हैं और दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। घर में बच्चे क्वारंटीन हैं, जबकि पत्नी एक होटल में क्वारंटीन हैं। पति चार दिन से एसटीएच में भर्ती हैं।

उनकी हालत गंभीर है। गोस्वामी और दीपक रावत के बीच दोस्ती है। दीपक रावत ने ही कोरोना पॉजिटिव उक्त व्यक्ति की पत्नी को गोस्वामी का नंबर दिया। गोस्वामी ने भी हां करने में एक पल की देर नहीं लगाई। सल्ट से अपनी गाड़ी से 180 किलोमीटर का सफर तय करके हल्द्वानी पहुंच गए। एसटीएच में जाकर उन्होंने मंगलवार को रक्तदान किया। रक्त से प्लाज्मा निकालकर उक्त कोविड मरीज को दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here