उत्तराखंड : चोरी के गहने बांट रहे थे चोर, पुलिस ने रंगे हाथों दबोचा

 

सितारगंज : पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर नौ सितंबर को सिसौना के एक ज्वैलर्स की दुकान में हुई बड़ी चोरी की घटना का खुलासा कर दिया है। आरोपितों के कब्जे से पुलिस ने लाखों रुपए के जेवरात बरामद किए हैं। चोरों ने 9 सितंबर को सिसौना स्थित रामा शाह की दुकान के ताले काटकर करीब पाँच किलो चांदी के जेवरात पार कर लिए थे। रामा शाह ने 10 सितंबर को पुलिस को इसकी सूचना देकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी, इसके खुलासे के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देशन व अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पुलिस क्षेत्राधिकारी सुरजीत कुमार ने तीन तीनों का गठन किया था।

यह टीमें उत्तर-प्रदेश व उत्तराखंड के कई स्थानों पर चोरों की खोजबीन में जुटी रहीं। अपर पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पिंचा ने इस दौरान एसओजी टीम को सर्विलांस के जरिये जानकारी जुटाने के निर्देश दिए।उधर इसी बीच कोतवाली पुलिस को मुखविर के जरिये सटीक सूचना मिली कि चोर गोठा को जाने वाले लिप्टिस के जंगल पार करके जमनी के जंगल के पास माल का बंटवारा करने पहुंचे हुए हैं। इसपर पुलिस ने घेराबंदी कर उन्हें दबोच लिया। अपर पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पींचा ने मामले का विस्तार से खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस के पहुंचने पर चोर जंगल में कम्बल बिछाए बैठे थे।

इस दौरान एक चोर ने भागने की कोशिश की, जिसे पुलिस ने पीछा कर पकड़ लिया। पकड़े गए लोगों में मोहम्मद फिरोज उत्तर प्रदेश, रवि कुमार सक्सेना शाहजहांपुर, मोहम्मद आसिफ उर्फ जानी हुसैन पंडरी सितारगंज, आरिफ सितारगंज है।इनके पास से 9 जोड़ी पायल ,37 जोड़ी बिछुवे, 20 अंगूठी, एक गले की चैन, पाँच जोड़ी धगुले बरामद हुए हैं। अपर पुलिस अधीक्षक पींचा ने बताया कि आर्थिक तंगी दूर करने के लिए इन लोगों ने घटना को अंजाम दिया। चोरों के मुताबिक जेवरात रवि कुमार बेचने ले गया था। रवि कुमार ने बताया कि पीलीभीत के सुनार को कुछ जेवरात बेच दिए। उसके उसने एक लाख रुपये दिए। यह भी बताया कि बाकी जेवरात वह उधार मांग रहा था, इसलिए यहां लाकर छुपा दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here