उत्तराखंड : आजकल चर्चाओं में हैं ये अधिकारी, अब स्टोन क्रेशरों पर छापेमारी

टनकपुर : SDM इसे पहले भी आये, लेकिन इस बार आये नए SDM अपने काम करने के तरीके से जहां आम लोगों को राहत दी है. वहीँ, गलत काम करने वालों की मुश्किलें बढ़ गयी हैं. एसडीएम हिमांशु कफल्टिया ने टनकपुर क्षेत्र में चल रहे स्टोन क्रेशरों पर छापेमारी की. जिसके चलते क्रेशरों में हड़कम्प मच गया. उनकी टीम में खनन विभाग, वन विभाग, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और बिजली विभाग के अधिकारी मौजूद रहे.

टनकपुर के कुमाऊँ व शारदा स्टोन क्रेशर में उपजिलाधिकारी ने अपनी टीम के साथ क्रेशर पर जाकर छापेमारी की, टीम ने आवश्यक दस्तावेजो के अलावा प्लांट के प्रत्येक हिस्से का जायजा लिया. टीम के द्वारा अचानक पहुँचते ही दोनो प्लांटो में हड़कंप मच गया l लगभग दो घंटे बाद टीम जांच कर वापिस लौटी. सम्बंध में उपजिलाधिकारी हिमांशु कफल्टिया ने बताया कि माननीय उच्च न्यायालय के निर्देश पर जिलाधिकारी द्वारा तहसील स्तर पर एक जांच टीम का गठन किया गया.

एसडीएम हिमांशु कफल्टिया, ज्येष्ठ खनन अधिकारी/उपनिदेशक राजपाल लेखा, उपप्रभागीय वनाधिकारी (शारदा) रामकृष्ण मौर्य, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से चंद्रबल्लभ जोशी को नामित किया गया था. जिलाधिकारी के आदेश पर टीम द्वारा संयुक्त रूप से जांच की गई मौके पर प्रदूषण, स्टॉक, बिजली, वन महकमे आदि से संबंधित जांच की गई. संयुक्त टीम ने पाया कि क्रेशर के जो नॉम्र्स है लगभग सही पाए गए है टीम में मौजूद अधिकारियों ने भी अपनी एक्सपर्ट एडवाइज दी, तत्पश्चात जो कुछ कमियां पायी गयी उनको सुधारने का उन्हें एक निश्चित समय दे दिया गया है. जांच के उपरांत रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेज दी गयी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here