उत्तराखंड : कई ऐसे मामले जब वर्दीधारियों ने ही कराई पुलिस महकमे की किरकिरी

देहरादून – उत्तराखंड पुलि मित्र पुलिस के नाम से जानी जाती है. जिसमें कई ऐसे अधिकारी-कर्मचारी हैं जो अपनी ईमानदारी, प्रतिभा और साहस के लिए जाने जाते हैं. लेकिन कई ऐसे मौके रहे जब वर्दीधारी पुलिसकर्मी और अधिकारियों ने ही पुलिस महकमें की किरकिरी कराई और पुलिस को शर्मनाक स्थिति का सामना करना पड़ा.

पहला मामला

18 फरवरी को एक वीडियो हुआ था सोशल मीडिया में वायरल 

18 फरवरी को एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ। जिसमें पांच पुलिस कर्मी शराब पीते हुए दिख रहे थे। एसएसपी ने जांच कराई तो पाया वीडियो पुलिस लाइन में बनाया गया था और सभी वहीं कार्यरत भी हैं। इस वीडियो ने पुलिस महकमे की खूब किरकिरी कराई थी। जांच के बाद मामले में पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

दूसरा मामला

यूआइटी के छात्र से रेसकोर्स में बीस हजार रुपये वसूली का मामला

 30 अप्रैल को यूआइटी के छात्र से रेसकोर्स में बीस हजार रुपये वसूली का मामला सामने आया। छात्र को कैंट कोतवाली के बिंदाल चौकी पर तैनात सिपाही सुशील ने जुआ खेलने के आरोप में पकड़ा था, जबकि यह उसका थाना क्षेत्र नहीं था। मामले में एसएसपी ने सिपाही पर केस दर्ज कर और निलंबित कर दिया।

तीसरा मामला

9 सितंबर को पुलिस ने 12 लोगों को जुआ खेलते पकड़ा

9 सितंबर को डालनवाला के डीएल रोड स्थित एक मकान से पुलिस ने 12 लोगों को जुआ खेलते पकड़ा। पूछताछ में पता चला कि इसमें नेहरू कॉलोनी में तैनात सिपाही सुभाष भी शामिल था। पुलिस ने उसे मौके से गिरफ्तार कर लिया और सभी के खिलाफ जुआ अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया। और सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here