उत्तराखंड : अतिक्रमण हटाने गई टीम को करना पड़ा विरोध का सामना, धरने पर बैठे पूर्व विधायक और चेयरमैन

 

सितारगंज : इन दिनों अभियान चलाया जा है। इस दौरान अतिक्रमण हटाने वाली टीम को लोगों के विरोध का सामना भी करना पद रहा है। ऐसा ही नजारा मीणा बाजार में भी देखने को मिला। बाजार से अतिक्रमण हटाने पहुंची प्रशासनिक टीम का पूर्व विधायक नारायण पाल और चेयरमैन ने समर्थकों के साथ विरोध दिया। लोग चेयरमैन और विधायक के साथ धरने पर बैठ गए। उनकी अफसरों से जमकर नोकझोंक हुई। उन्होंने अफसरों पर नियम के विरुद्ध अभियान चलाने का आरोप लगाया।

आज मीना बाजार से अतिक्रमण हटना था। निर्माणाधीन रोडवेज बस स्टेशन से बसों का संचालन कराने के लिए परिवहन विभाग ने सड़कों से अतिक्रमण हटाने की मांग की थी। इसके बाद लोक निर्माण विभाग की टीम आसपास के थानों फोर्स के साथ अतिक्रमण हटाने पहुंची। मौके पर पहुंचे पूर्व विधायक नारायण पाल, चेयरमैन हरीश दुबे ने अफसरों पर नियमों के विपरीत अभियान चलाने का आरोप लगाते हुए विरोध शुरू कर दिया।

समर्थकों के साथ सड़क में धरने पर बैठ गए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अफसरों पर दमनकारी नीति अपनाने का आरोप लगाया। कहा कि नियमों के विपरीत अभियान चलाया जा रहा है। भूमिधरी जमीनों के स्वामियों का मकान, दुकान भी अफसर तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।सड़कों से विद्युत पोल नहीं हटाए गए हैं। इस वजह से छोटे व्यापारी उजड़ रहे हैं। इस मौके पर पीडब्ल्यूडी के अफसर और राजस्व अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here