उत्तराखंड : चुनाव से पहले परेशान जनता का एक ही नारा, पानी नहीं तो वोट नहीं

जसपुर : लोकसभा चुनाव का आगाज होते ही जहां नेताओं में अपनी जीत को लेकर गर्मजोशी के साथ अपना परचम लहराने में लगे हैं. वहीं अब जसपुर काशीपुर क्षेत्र की जनता पानी के मामले को लेकर कड़ा रुख अपनाए हुए हैं.

चुनावी वादे मात्र वादे बनकर रह गए,समस्या जस की तस

आपको बता दें कि जसपुर के वार्ड नंबर 7 में पानी की किल्लत से जनता बेहद परेशान है जिन्होंने निकाय चुनाव में भी पानी के मुद्दे को अहम मुद्दा बनाया था लेकिन चुनावी वादे मात्र बनकर रह गए. आज तक किसी जनप्रतिनिधि ने उनकी समस्या पर ध्यान नहीं दिया जिसके परिणाम स्वरूप आज फिर लोकसभा चुनाव पानी का मुद्दा जोर पकड़ने लगा है. और पानी की समस्या सिर्फ जसपुर में ही नहीं है बल्कि काशीपुर में भी है.

लोगों का एक ही नारा औऱ एक ही जंग

पानी की किल्लत से परेशान लोगों ने अब एक ही नारा, एक ही जंग के साथ चुनावी समर में भाग लेने का निर्णय लिया है. जनता का साफ तौर पर कहना है कि अगर पानी नहीं तो वोट नहीं. अब देखने वाली बात ये होगी की क्या लोकसभा चुनाव से पहले या बाद में लोगों के वादे अनुसार काम किया जाता है कि नहीं? या फिर से उन्हें गुमराह कर प्रत्याशी वोट लपक ले जाएंगे.

बता दें नैनीताल-उधम सिंह नगर लोकसभा सीट हॉट सीट बन गई है. भाजपा में दमखम रखने वाले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट यहां से प्रत्याशी हैं औऱ उनके सामने चुनौती हैं हरीश रावत. एक तरफ प्रदेश अध्यक्ष भाजपा तो दूसरी तरफ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत इस सीट पर चुनावी ताल ठोकने की तैयारी कर रहे हैं. लेकिन लोगों का कहना है प्रत्याशी कोई भी हो उनका सिर्फ एक ही नारा है…पानी नहीं तो वोट नहीं।

देखने वाली बात होगी की दोनों प्रत्याशी क्या वादे जनता से करते हैं और कितनी उनकी समस्याओं का निपटारा करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here