उत्तराखंड: राज्य कर अधिकारी ने ऑनलाइन मंगाई रिश्वत, तब छोड़ा ट्रक

देहरादून: चेकिंग के नाम पर रिश्वत लेने के आरोप में राज्य कर अधिकारी अनिल कुमार को निलंबित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री पोर्टल पर कारोबारी ने शिकायत की थी। जांच के बाद राज्य कर आयुक्त सौजन्या ने राज्य कर अधिकारी को सस्वपेंड कर दिया। आशारोडी चेक पोस्ट पर सचल दल इकाई में तैनात राज्य कर अधिकारी अनिल कुमार ने 15 फरवरी की रात को हिसार से माल लेकर देहरादून आ रहे ट्रक को चेकिंग के लिए रोका। अधिकारी ने ट्रक चालक से माल का ई-वे बिल मांगा। माल भेजने वाले ट्रांसपोर्ट व्यापारी की तरफ से ई-बिल संबंधित कुछ दस्तावेज पूरे नहीं होने पर ट्रक को जाने नहीं दिया।

माल भेजने वाले व्यापारी ने सुबह साढ़े तीन बजे ई-वे बिल को अपडेट कर दिया था। इसके बाद भी राज्य कर अधिकारी ने ट्रक नहीं छोड़ा। ट्रक में मेडिकल वेस्ट में प्रयोग होने वाले पॉलीथिन बैग भरे थे। यह माल देहरादून के कारोबारी ने मंगवाया था। ट्रक चालक ने मौके पर अधिकारी को 9500 रुपये की राशि नकद दी, लेकिन अनिल कुमार ने और पैसों की मांग की।

इस पर माल भेजने वाले व्यापारी ने गूगल पे से अधिकारी की ओर से दिए बैंक खाते में 20 हजार रुपये जमा किए। यह बैंक खाता राज्य कर अधिकारी के किसी रिश्तेदार का है। व्यापारी अनिल माटा ने तथ्यों के साथ सीएम पोर्टल पर शिकायत की। शिकायत पर विभाग की प्रारंभिक जांच में शिकायत सही पाए जाने पर विभाग ने अधिकारी को निलंबित कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here